featured भारत खबर विशेष साइन्स-टेक्नोलॉजी

Black Hole Sound: नासा ने रिकॉर्ड की आवाज, लोग बोले ब्लैक होल की आवाज में ‘ओम’ है

NASA Black Hole Sound: नासा ने रिकॉर्ड की आवाज, लोग बोले ब्लैक होल की आवाज में 'ओम' है
हमारा अंतरिक्ष रहस्यों से भरा हुआ है। वैज्ञानिक लगातार इन रहस्यों का पता लगाने की खोज में जुटे रहते हैं। इसी क्रम में नासा ने एक नया वीडियो जारी किया है।
जिसमें ब्लैक होल की आवाज को रिकॉर्ड किया गया है। पृथ्वी से 20 करोड़ प्रकाश वर्ष की दूरी पर मौजद ब्लैक होल की आवाज को रिकॉर्ड किया गया है। जिसे नासा ने अपने ऑफिशियल ट्वीट पर पोस्ट किया है।
अब आपके दिमाग में ये सवाल आना जायज है कि जब अंतरिक्ष के ज्यादातर हिस्से में वैक्यूम है तो ये आवाज कैसे रिकॉर्ड हुई है। तो जान लीजिए कि आकाशगंगा में मौजूद गैसें जब टकराती हैं तो उनसे ध्वनि निकलती है।
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पर्सियस आकाशगंगा समूह के केंद्र में ब्लैक होल (BLACK HOLE) की आवाज को रिकॉर्ड किया है।

नासा ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ये मानना गलत है कि अंतरिक्ष में कोई आवाज नहीं है, क्योंकि आकाशगंगा खाली है और वैक्यूम से भरा है, जिससे ध्वनि तरंगों को रास्ता नहीं मिलता है। उन्होंने आगे लिखा कि एक ग्लैक्सी क्लस्टर में इतनी गैस है कि हमने वास्तविक ध्वनि को पकड़ लिया है। यहां एक ब्लैकहोल की एम्पलीफाइड और अन्य डेटा के साथ मिक्स करके बनाई गई ध्वनि है।
नासा के इस ट्वीट के बाद कई तरह के रिएख्शन सामने आ रहे हैं। कई यूजर लिख रहे हैं कि अंतरिक्ष में ओम की आवाज गूंजती है। एक यूजर ने लिखा है कि इसके पीछे हिंदू ऋषि इस विज्ञान से आगे हैं। ये आवाज की कंपन है। जिसे कुछ लोग ओम की ध्वनि बता रहे हैं।
नासा की ओर से इस आवाज को रिलीज किए जाने के बाद कई तरह के रिएक्शन आए हैं। कई लोगों ने नासा के वीडियो को रीट्वीट करते हुए लिखा कि अंतरिक्ष में ओम की आवाज गूंजती है। एक यूजर ने लिखा कि विज्ञान हिंदू ऋषियों से पीछे हैं। विज्ञान ने आज जो खोजा है वह बहुत पहले ऋषियों ने खोज लिया था। वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा कि ओम एक शाश्वत धवनि है और वह ब्रह्मांड में हर जगह मौजूद है।
साल 2003 में पहली बार ब्लैक होल को ध्वनि के अटैच किया गया था। तब वैज्ञानिकों को पता चला था कि प्रेशर एक तरंग पैदा करता है। इससे जो ध्वनि पैदा होती है उसकी आवाज बहुत कम होती है। इसलिए यह ध्वनि इंसानों को सुनाई नहीं देती।

Related posts

फारुक अब्दुल्ला अस्पताल में भर्ती, कोरोना से हैं संक्रमित

Saurabh

सीएम ने लॉन्च किए मोबाईल एप, शुरुआती परीक्षण में फेल हुआ लोकभवन

Rahul srivastava

मप्र: वोटरों को लालच देने वाले नेता हो जाएं सावधान, EC ने लांच किया एप

mahesh yadav