Breaking News यूपी

कोरोना ने छीना पिता तो स्कूल ने छीन ली पढ़ाई, जानिए कहां का है मामला

कोरोना ने छीना पिता तो स्कूल ने छीन ली पढ़ाई, जानिए कहां का है मामला

लखनऊ: अनाथ बच्चों की कोरोना काल में मदद करने के लिए सरकार ने सभी को अलर्ट रहने के लिए कहा है, लेकिन इसी बीच मेरठ से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई। जहां बीजेपी एमएलसी के स्कूल में अनाथ बच्चे के साथ बेरुखी देखी जा रही है। पिता की कोरोना संक्रमण से मौत होने के बाद बच्चे को विद्यालय से निकाल दिया गया।

ऑनलाइन क्लास के लिए एडमिशन फीस की मांग

इतना ही नहीं, ऑनलाइन क्लास चलाने के लिए एडमिशन फीस की भी डिमांड रखी गई। दरअसल पूरा मामला मेरठ के सिटी वोकेशनल स्कूल का है, यह स्कूल मेरठ के प्रसिद्ध डॉक्टर, कारोबारी नेता डॉक्टर सरोजिनी का है। यहीं की रजबन निवासी राधिका ने अपने पति को कोरोना के चलते खो दिया। उनके पति बाइक स्टैंड पर नौकरी करते थे। अब बच्चे को शिक्षा के लिए भटकना पड़ रहा है।

स्कूल ने दिखाया बाहर का रास्ता

महामारी के चलते एक बच्चे के पिता की मौत हो गई और इसके बाद स्कूल ने अपनी बेरुखी सबके सामने जाहिर कर दी। पढ़ाई के लिए उसके पास फीस ना होने के कारण स्कूल से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। शासन के आदेश के बाद भी ऐसे बच्चों को क्लास उपलब्ध नहीं करवाई जा रही है, जबकि उत्तर प्रदेश सरकार लगातार अनाथ बच्चों की मदद करने के लिए सबको कह रही है।

अनाथ बच्चों को मिले शिक्षा

पिछले दिनों यूपी सरकार की तरफ से कहा गया था कि सभी अनाथ बच्चों की लिस्ट तैयार की जाए और उनके लिए सरकारी मदद भी मुहैया करवाई जाए। शिक्षा और आर्थिक मदद दोनों उत्तर प्रदेश सरकार उपलब्ध करवा रही है, लेकिन मेरठ में उन्हीं की पार्टी के नेता के स्कूल में यह बेरुखी का आलम देखने को मिल रहा है। बता दें कि यूपी सरकार ने कहा है कि ऐसे सभी बच्चे जिन्होंने अपने माता-पिता को कोरोना में गंवाया उनकी पढ़ाई और आर्थिक मदद सरकार करेगी। ऐसे बच्चों को मोबाइल फोन और लैपटॉप भी दिए जाने की बात कही गई था। दूसरी तरफ यह मामला कई सवाल खड़े करता है।

-सानू भारती की रिपोर्ट

Related posts

व्यापार में नहीं हो रही कमाई तो देवउठनी एकादशी के दिन करें ये उपाय, खूब होगी धन की वर्षा

Trinath Mishra

लखनऊ में माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के 12 कर्मी कोरोना पॉजिटिव, ऑफिस सील

Shailendra Singh

5 लाख 51 हजार दिये से जगमगायेगी अयोध्या, आज मनेगी दिव्य दीपावली

Hemant Jaiman