संत रविदास जयंती: काशी पहुंची प्रियंका गांधी, रविदास मंदिर में टेका मत्‍था     

वाराणसी: संत रविदास की 664वीं जयंती पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा काशी पहुंची हैं। उन्‍होंने रविदास मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और फिर मुख्‍य मंच पर पहुंचीं।

यह भी पढ़ें: माघ मेला में भक्तों पर हुई पुष्प वर्षा, साधु संतों ने की योगी की तारीफ

संत रविदास मंदिर ट्रस्‍ट की ओर से कांग्रेस महासचिव प्रियंका का स्वागत किया गया। प्रियंका गांधी ने संत रविदास की प्रतिमा के सामने मत्था टेकते हुए आशीर्वाद मांगा और इसके बाद संत निरंजन दास से आशीर्वाद प्राप्‍त किया।

 

 

एयरपोर्ट पर हुआ प्रियंका का जोरदार स्‍वागत

प्रियंका लाल बहादुर शास्‍त्री अंतर्राष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर पहुंचीं, कांग्रेसियों ने उनका जोरदार स्‍वागत किया। पार्टी कार्यकर्ताओं के नारे के बीच प्रियंका गांधी का काफिला बाबतपुर एयरपोर्ट से सीर गोवर्धनपुर पहुंचा। इस दौरान सैकड़ों गाड़ि‍यों का काफिला भी उनके पीछे चलता रहा और जगह-जगह उनका जोरदार स्‍वागत किया गया। प्रियंका गांधी को देखने के लिए कई जगहों पर सड़क पर भीड़ उमड़ पड़ी।

 

 

पार्टी कार्यकर्ता के घर पर कर सकती हैं चाय-नाश्‍ता

जानकारी के मुताबिक, वाराणसी दौरे पर आईं यूपी कांग्रेस प्रभारी प्रियंका पार्टी के नेताओं से चर्चा करने के अलावा पार्टी के किसी एक कार्यकर्ता के घर रुककर चाय-नाश्‍ता भी करेंगी।

संत रविदास मंदिर में पहुंचे पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

इससे पहले केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान सीर गोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर पहुंचे और संत दरबार में मत्था टेका। इसके बाद मंदिर के संत और डेरा सच्‍चा बल्‍लखंड जालंधर के प्रमुख निरंजन दास का आशीर्वाद भी लिया। फिर संत निरंजन दास ने वीआईपी कक्ष में उन्‍हें सरोपा, अमृतवाणी और प्रसाद देकर सम्मानित किया।

अखिलेश यादव भी पहुंचेंगे संत रविदास मंदिर

सपा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने आज विंध्यचाल में मां विंध्यवासिनी मंदिर में दर्शन-पूजन किया। वह पहली बार संत रविदास मंदिर में जाएंगे। अखिलेश यादव यहां मत्था टेकेंगे और इसके बाद प्रवचन सुनने सत्संग पंडाल में भी जाने की संभावना है।

कोरोना को लेकर केंद्र सरकार सख्त, 31 मार्च तक बढ़ाई गाइडलाइन, राज्यों को सावधानी बरतने के निर्देश

Previous article

Income Tax Payers के लिए बड़ी खबर, 31 मार्च तक बढ़ी विवाद से विश्वास योजना

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured