September 24, 2021 7:39 pm
featured यूपी

फतेहपुर: संपूर्ण समाधान दिवस में 441 शिकायतें, मामलों पर गठित हुईं टीमें

फतेहपुर: संपूर्ण समाधान दिवस में 441 शिकायतें, मामलों पर गठित हुईं टीमें     

फतेहपुर: तहसील संपूर्ण समाधान दिवस में बिंदकी तहसील में रिकॉर्ड 257 मामले आए। जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे की अध्यक्षता में यहां पर 23 शिकायतों का मौके पर निस्तारण हुआ। इस दौरान तहसीलदार चंद्रशेखर यादव सहित कई प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी मौजूद रहे, जबकि जिले भर में कुल 441 शिकायतें आयीं। सदर तहसील में उप जिलाधिकारी प्रमोद झा की अध्यक्षता में सुनवाई हुई, जहां तहसीलदार विदुषी सिंह भी मौजूद रहीं।

समाधान दिवस में खागा तहसील में 142 पर 18 शिकायतें और सदर तहसील में 42 पर चार शिकायतों का निस्तारण किया गया। सदर तहसील के मोहन किसानी का काम करते हैं। उन्होंने उप जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में बताया कि, गाटा संख्या 1464 में उनके चाचा बच्छराज पुत्र बुद्धसेन सह खातेदार हैं। आरोप के अनुसार बच्छराज इस गाटा संख्या में पूरी जमीन पर कब्जा कर रहा है, जबकि लिखा पढ़ी में इस गाटा संख्या पर उनकी जमीन भी है। उन्होंने एसडीएम से बताया कि मना करने पर आरोपी उन्हें मारने-पीटने की धमकी देता है।

फतेहपुर: संपूर्ण समाधान दिवस में 441 शिकायतें, मामलों पर गठित हुईं टीमें     

बिंदकी में 257 शिकायतों में से 23 का निस्‍तारण  

इस पर उप जिलाधिकारी प्रमोद झा ने प्रार्थी के दस्तावेजों को देखते हुए। थाना प्रभारी असोथर को उसकी जमीन पर कब्जा दिलाने के लिए निर्देशित किया, जिससे पीड़ित मोहन की शिकायत का मौके पर ही समाधान हो गया। इसी तरह बिंदकी में कुल 257 शिकायतों पर 23 का निस्तारण करते हुए पीड़ितों को राहत दिलवाई गयी, जबकि खागा तहसील में 142 शिकायतों में 18 को तत्काल समाधान दिया गया। शेष 396 शिकायतों के लिए अलग-अलग एक दर्जन से अधिक टीमों का गठन करते हुए उन्हें मौके पर भेजा गया है।

फतेहपुर: संपूर्ण समाधान दिवस में 441 शिकायतें, मामलों पर गठित हुईं टीमें     

तहसील समाधान दिवस की अध्यक्षता कर रहे अधिकारियों ने बताया कि, यह टीमें एक सप्ताह के अंदर मामले का निस्तारण करेंगी और रिपोर्ट भेजेंगी। उप जिलाधिकारी प्रमोद झा ने बताया कि, संबंधित शिकायतों पर अधिकारियों को सही और गुणवत्तापूर्ण समाधान के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही शिकायत और मांग पत्र दोनों को अलग-अलग करते हुए उन्हें व्यवस्थित करने को कहा गया है। शिकायती मामले पर अधिकारियों एसडीएम ने कहा कि, समाधान पीड़ित की संतुष्टि पर होना चाहिए। हालांकि इस बात का पूरा ध्यान रहे कि किसी भी स्तर पर आरोपी के साथ भी कोई अन्याय नहीं होना चाहिए क्योंकि कुछ मामले फर्जी भी होते हैं। ऐसे में पीड़ित को सख्त चेतावनी देते हुए उन्हें भविष्य के लिए सावधान भी करें।

फतेहपुर: संपूर्ण समाधान दिवस में 441 शिकायतें, मामलों पर गठित हुईं टीमें     

Related posts

महापौर ने आठ वैक्सीनेशन सेन्टर का किया निरीक्षण

Aditya Mishra

दीपिका कक्कड़ को ट्रोल करने वाले ट्रोलर्स पर भड़के पति शोएब, ऐसे लगाई क्लास

Rani Naqvi

कार्यकर्ताओं के साथ देवघर के बाद बांका पहुंचे तेजप्रताप यादव, की पूजा-अर्चना

mohini kushwaha