अखिलेश यादव पर दर्ज मुकदमे का विरोध, लखनऊ में फिर लगे विवादित पोस्‍टर

लखनऊ: राजधानी में समाजवादी पार्टी ने एक बार फिर उत्‍तर प्रदेश सरकार के विरोध में पोस्‍टर-बैनर लगाए। यह पोस्‍टर-बैनर सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव पर मुरादाबाद जिले में दर्ज मुकदमे के विरोध में लगाए गए।

राजधानी स्थित 1090 चौराहे और आसपास के इलाकों में रविवार देर रात लगाए गए पोस्‍टर-बैनर में एक तरफ अखिलेश यादव की फोटो लगाई गई और दूसरी तरफ मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की फोटो लगाई। इनमें सपा प्रमुख की फोटो के ऊपर लिखा ‘मुकदमे लगाए’ और सूबे के मुखिया की फोटो के ऊपर लिखा- ‘मुकदमे हटाए।’ हालांकि, पुलिस ने रात भर में इन पोस्‍टर-बैनर्स को चुन-चुनकर हटा दिया।

क्‍या है मामला?

गौरतलब है कि मुरादाबाद जिले में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बीती 11 मार्च को तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में शामिल हुए थे। इससे पहले दिल्ली रोड स्थित पांच सितारा होटल में प्रेस कांफ्रेंस खत्म होने के बाद होटल की लाबी में अखिलेश यादव के सुरक्षाकर्मियों-कार्यकर्ताओं से पत्रकारों का विवाद हुआ। इसके बाद हुई मारपीट व धक्कामुक्की में एक चैनल का प्रतिनिधि घायल भी हो गया था। इस मामले में कुछ पत्रकारों ने अखिलेश यादव सहित 21 लोगों पर मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था।

लखनऊ में पहले भी लग चुकी हैं होर्डिंग्‍स

बता दें कि इससे पहले राजधानी लखनऊ में 10 मार्च की रात भी पॉश इलाके लोहिया पथ पर सरकार विरोधी बैनर लगा दिए गए थे, जिसकी भनक तक पुलिस को नहीं लग सकी। जगह-जगह ऐसे बैनर लगे होने की सूचना खुद आइपी सिंह ने ट्वीट करके दी थी, जो कुछ ही देर में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा बने टीएमसी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

Previous article

विधानसभा के सामने आत्मदाह करने पहुंची महिला, पुलिस ने बचाई जान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured