शहीद दारोगा को पुलिसलाइन में दी गई सलामी, सीएम योगी बोले- दोषियों पर होगी सख्त कार्रवाई

आगरा: आगरा में बुधवार को शहीद हुए दारोगा प्रशांत कुमार यादव को आज पुलिस लाइन में सलामी दी गई। इस मौके पर एडीजी और आईजी समेत एसएसपी और अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

वहीं शहीद दारोगा का शव मिलते ही परिजन उसे लेकर बुलंदशहर के पैतृक गांव के लिए रवाना हो गए हैं। उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आगरा पुलिस भी परिजनों के साथ बुलंदशहर गई है।

मुख्यंत्री योगी ने जताया शोक

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद दारोगा के निधन पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि उनकी संवेदनाएं शोक संतृप्त परिवार के साथ हैं।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि जो भी दोषी होगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने परिजनों को आर्थिक सहायता देते हुए 50 लाख रुपए देने की घोषणा की है।

खंदौली थाने में तैनात थे शहीद दारोगा

बता दें कि शहीद दारोगा प्रशांत कुमार यादव खंदौली थाने में तैनात थे। वो नहर्रा गांव में दो भाइयों शिवनाथ और विश्वनाथ के बीच लड़ाई होने की सूचना पर गांव गए थे। गांव में दोनों भाई आलू की फसल को लेकर लड़ाई कर रहे थे।

शिवनाथ के हाथ में तमंचा था और वो मजदूरों को आलू खोदने से मना कर रहा था। वो उन्हें धमका भी रहा था। इस बीच खेत में पहुंचते ही जैसे ही दारोगा प्रशांत कुमार यादव ने शिवनाथ के हाथ में तमंचा देखा तो वो उसे पकड़ने के लिए दौडे।

इस दौरान शिवनाथ के तमंचे से गोली चल गई और गोली सीधे दारोगा के गर्दन में लगी। इससे दारोगा प्रशांत की वहीं मौके पर ही मौत हो गई।

परिजनों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

इस घटना के बाद शहीद दारोगा के परिजनों में कोहराम मच गया था। परिजनों ने पुलिस विभाग पर तरह-तरह के आरोप लगाए थे। परिजनों ने पुलिस से पूछा था कि घटनास्थल पर दारोगा प्रशांत कुमार यादव को अकेले क्यों भेजा गया। उन्हें फोर्स के साथ क्यों नहीं भेजा गया था।

परिजनों ने पुलिस अधिकारियों से साफ कह दिया था कि जब तक हत्यारे को पकड़ा नहीं जाएगा तब तक वो शव का पंचनामा नहीं भरने देंगे। काफी मशक्कत के बाद समझाबुझाकर पुलिस ने शहीद दारोगा का पंचनाम भरने की कार्रवाई की थी।

 

राष्ट्रीय दक्षता पुरस्कार से सम्मानित यूपी की 5 चीनी मिल, नई दिल्ली में होगा सम्मान

Previous article

लाउडस्‍पीकर के बाद योगी सरकार के मंत्री ने बुर्के पर उठाया सवाल, दिया ये बयान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured