काला हिरण शिकार मामलें में सलमान बरी या दोषी

काला हिरण शिकार मामलें में सलमान बरी या दोषी

नई दिल्ली। बहुचर्चित काला हिरण शिकार मामले में सलमान की आज मुश्किलें आज बढ़ सकती हैं बता दे कि आज सलमान को इस मामलें में फैसला सुनाया जाएगा। बता दे कि सलमान की किस्मत का फैसला हो चुका हैं और आज उस फैसले को सुनाया जाएगा। जिसमें यें पता चलेगा कि सलमान सच में आरोपी हैं या नहीं।

बता दे कि काला हिरण शिकार मामले में फिल्म अभिनेता सलमान खान के साथ साथ सैफ अली खान, अभिनेत्री नीलम, सोनाली और तब्बु भी आरोपी हैं और सभी जौधपुर के लिए रवाना हो चुके हैं। बता दे कि काला हिरण के चौथे मामलें में 28 मार्च को सुनवाई हुई थी और सीजेएम ग्रामीण देवकुमार खत्री की ओर से फैसला सुरक्षित रख लिया गया था और आज इस फैसले को उजागर किया जाएगा।

बता दे कि सलमान खान को इससे पहले 4 जनवरी को सीजेएम ग्रामीण कोर्ट में पेश होना पड़ा था। 20 साल पुराने काले हिरण शिकार केस में सलमान जोधपुर में होने के कारण व्यक्तिगत रूप से अदालत में उपस्थित हुए थे और सलमान करीब इस मामलें को लेकर 35 मिनट अदालत में पेश हुए थें। बता दे कि सलमान के वकील की ओर से इस मामलें में पूनमचंद की गवाही की सीडी चलाई गई थी।बता दे कि जब सलमान खान के इस मामलें की सुनवाई हुई थी तब सलमान काफी भावुक हो गए थें और उनके चेहरें पर टेंशन भी साफ देखी गई थी इस दौरान सलमान के साथ साथ नके बॉडीगार्ड शेरा और एक अन्य व्यक्ति भी थे।

क्या था मामला

सलमान खान पर काला हिरण शिकार मामलें में केस चल रहा हैं और इस मामलें में सलमान तीन केस में बरी हो चुके हैं और आज नंबर हैं चौथे केस का जो कि 20साल बाद हो रहा हैं जिसमें यें पता चलेगा कि सलमान दोषी हैं यां नहीं बता दे कि यें केस तब शुरू हुआ था जब सलमान 1998 में जोधपुर में अपनी फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग कर रहे हैं थे और शूटिंग के दौरान सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने को लेकर आरोप लगे थें। बता दे कि इस केस को लेकर सलमान खान को हिरासत में भी लिया गया था और सलमान खान ने 5दिन जेल में गुजारा था। और 22 सितंबर, 1998 को उनके कमरे से पुलिस ने एक रिवॉल्वर और राइफल बरामद की थी।

इस अधिकारी ने दर्ज कराया केस

बता दे कि सलमान खान द्रारा काला हिरण शिकार मामले में वन अधिकारी ललित बोड़ा की ओर से जोधपुर के लूणी पुलिस थाने में 15 अक्टूबर, 1998 को सलमान खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। बता दे कि दर्ज एफआईआर के मुताबिक सलमान खान 1-2 अक्टूबर, 1998 को कांकाणी गांव की सरहद पर दो काले हिरणों का शिकार किया था।

28 मार्च अंतिम बहस

सलमान खान द्रारा काला हिरण शिकार मामलें को लेकर 28 मार्च को अंतिम सुनवाई हुई थी। और अभियोजन पक्ष की ओर से 51 गवाह की सूची कोर्ट में पेश की गई थी जिसमें 28 गवाहों के बयान करवाए गए चाव पक्ष की ओर से भी मामले में बचाव के दस्तावेज कोर्ट में पेश किए गए. इसके बाद सभी मुल्जिमों के बयान लेने के बाद दोनों पक्षों की ओर से अंतिम बहस गत 28 मार्च को पूरी कर ली गई थी।

पेश होने का मिला आदेश

सीजेएम ग्रामीण देवकुमार खत्री की कोर्ट ने मामले में फैसला सुनाने के लिए आज का दिन मुकर्रर करते हुए सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश होने की हिदायत दी थी। इस मामले मे सरकार की ओर से पक्ष रखते हुए लोक अभियोजन अधिकारी भवानीसिंह भाटी ने पैरवी करते हुए कोर्ट के समक्ष सभी गवाह, दस्तावेज और आर्टिकल पेश किया था।

सजा की मांग

उन्होंने कोर्ट को यह बताया कि सभी आरोपियों के खिलाफ अपराध प्रमाणित होता है, जिसमें से सलमान के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण की धारा 9/51 और आईपीसी की धारा 148 के अंतर्गत सजा की मांग की है। सह आरोपियों सैफ अली खान, नीलम, तब्बू, सोनाली और दुष्यंतसिंह के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण की धारा 9/52 के तहत सजा की मांग की गई है।