8b606a1d e6b8 4b90 8bd9 685654dcc633 सालाना उत्सव मकरविलक्कू के लिए खोला गया सबरीमाला मंदिर, भक्तों के लिए टीडीबी ने जारी की एडवाइजरी
फाइल फोटो

तिरुवनंतपुरम। कोरोना महामारी ने देश को ही नहीं बल्कि पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। इसका प्रसार दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है। इसके साथ ही बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से देश में सरकार द्वारा लाॅकडाउन लगा दिया गया था। जिसके चलते देश के सभी धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया था। क्योंकि धार्मिक स्थलों आनें वाले लोगों के कारण भी कोरोना वायरस फैल सकता था। जिसके चलते यह फैसला लिया गया था। इसके साथ ही सभी धार्मिक स्थलों के साथ-साथ केरल के सबरीमाला मंदिर को भी बीच में बंद कर दिया गया था। जिसके बाद अब सबरीमाला मंदिर को आज खोला जाएगा। धिकारियों के अनुसार सबरीमाला मंदिर को आज शाम 5 बजे सालाना उत्सव मकरविलक्कू के के लिए खोला जाएगा।

भक्तों के लिए 48 घंटे पहले तक का कोविड नेगेटिव होने का सर्टिफिकेट लिया जाएगा-

बता दें कि त्रावणकोर देवसोम बोर्ड (टीडीबी) के एक स्टेटमेंट के अनुसार, श्रद्धालुओं को 31 दिसंबर 2020 की सुबह से 19 जनवरी 2021 तक मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। मंदिर 20 जनवरी को बंद हो जाएगा। श्रद्धालुओं के लिए वर्चुअल क्यू बुकिंग 28 दिसंबर से मंदिर की आधिकारिक वेबसाइट से ऑनलाइन की जा रही है। मंदिर में रोजाना केवल 5,000 श्रद्धालुओं को ही प्रवेश दिया जाएगा। बोर्ड ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण श्रद्धालुओं के लिए कोविड-19 का नेगेटिव प्रमाण पत्र अनिवार्य होगा। इसके साथ ही बोर्ड के अनुसार 31 दिसंबर से भगवान अय्यप्पा के दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए 48 घंटे पहले तक का कोविड नेगेटिव होने का सर्टिफिकेट लिया जाएगा। टीडीबी ने अपने स्टेटमेंट में कहा कि जिनके पास कोविड टेस्ट नेगेटिव प्रमाण पत्र नहीं होगा, उन्हें सबरीमाला में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। साथ ही नीलकमल में कोविड -19 टेस्ट की कोई सुविधा नहीं होगी। मकरविलक्कू, सबरीमाला के तीर्थस्थल में सालाना मनाया जाने वाला पूजा फेस्टिवल है. यह 41 दिनों तक चलता है।

भारत में तेजी से फैल रहा नया स्ट्रेन! सरकार ने ब्रिटेन की उड़ाने की आवाजाही पर बढ़ाई रोक

Previous article

अनिल विज को मेदांता से मिली छुट्टी, घर पर ऑक्सिजन सपोर्ट पर

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.