September 23, 2021 11:15 am
featured हेल्थ

दुनिया की सबसे पहली कोरोना की वैक्सीन बनकर हुई तैयार, जानिए रूस की दवाई में कितना दम?

corona russia 2 1 दुनिया की सबसे पहली कोरोना की वैक्सीन बनकर हुई तैयार, जानिए रूस की दवाई में कितना दम?

कोरोना वायरस के कई महीनों से मौत बरसाने के बाद आज आखिरकार कोरोना की दवाई बनकर तैयार हो गई है। कोरोना का दवाई रूस में लॉन्च कल की जाएगी। इसके साथ ही इसका टीका भी लगाया जाएगा।

corona vaccine दुनिया की सबसे पहली कोरोना की वैक्सीन बनकर हुई तैयार, जानिए रूस की दवाई में कितना दम?
रूस के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने 12 अगस्‍त की तारीख रजिस्‍ट्रेशन के लिए तय की है। अगर सबकुछ ठीक रहा और वैक्‍सीन को रेगुलेटरी अप्रूवल मिला तो यह दुनिया की पहली प्रमाणिक कोविड-19 वैक्‍सीन होगी। अभी तक किसी देश को वैक्‍सीन बनाने में सफलता नहीं मिली है। रूस ने प्‍लान किया है कि यह वैक्‍सीन सबसे पहले हेल्‍थ वर्कर्स को दी जाएगी, उसके बाद बुजुर्गों को। मॉस्‍को ने कई देशों को भी वैक्‍सीन सप्‍लाई करने की बात कही है। रूस का कहना है कि वह अपने कोरोना टीके का बड़े पैमाने पर उत्‍पादन सितंबर से शुरू कर सकता है।रूस ने फिलीपींस को उसकी कोरोना वायरस वैक्‍सीन देने का ऑफर दिया था। फिलीपींस के राष्‍ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने यह ऑफर तो स्‍वीकार कर ही लिया है, साथ ही कहा है कि वह सबसे पहले खुद को वह टीका लगवाना चाहते हैं।

मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने एडेनोवायरस को बेस बनाकर यह वैक्‍सीन तैयार की है। रिसर्चर्स का दावा है कि वैक्‍सीन में जो पार्टिकल्‍स यूज हुए हैं, वे खुद को कॉपी नहीं कर सकते। रिसर्च और मैनुफैक्‍चरिंग में शामिल कई लोगों ने खुद को इस वैक्‍सीन की डोज दी है। कुछ लोगों को वैक्‍सीन की डोज दिए जााने पर बुखार आ सकता है जिसके लिए पैरासिटामॉल के इस्‍तेमाल की सलाह दी गई है।
रूस की वैक्सीन पर उठते सवालों के बीच फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने इस पर भरोसा जताया है। उनका कहना है, जब भी वैक्सीन आएगी तो जनता के बीच जाकर पहले मैं इसे लगवाउंगा। वैक्सीन का पहला प्रयोग मुझ पर करें। मुझे कोई दिक्कत नहीं। रशिया ने हाल ही में रोड्रिगो को वैक्सीन लगवाने का ऑफर दिया था जिसे उन्होंने स्वीकार किया है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनके देश में कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन बना ली है। पुतिन ने कहा कि ये दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन है, जिसे रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है। इतना ही नहीं व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि उनकी बेटी ने भी इस वैक्सीन को लिया है।इस वैक्सीन को मॉस्को के गामेल्या इंस्टीट्यूट ने डेवलेप किया है। मंगलवार को रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने वैक्सीन को सफल करार दिया। इसी के साथ व्लादिमीर पुतिन ने ऐलान किया कि रूस में जल्द ही इस वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू किया जाएगा और बड़ी संख्या में वैक्सीन की डोज़ बनाया जाएगा।

https://www.bharatkhabar.com/sachin-pilot-returns-to-congress-know-how-it-became/
फिलीपींस रशिया के साथ मिलकर क्लीनिकल ट्रायल करने और स्थानीय स्तर पर वैक्सीन का प्रोडक्शन करने में मदद करेगा। रूस अपनी वैक्सीन Gam-Covid-Vac Lyo का रजिस्ट्रेशन 12 अगस्त को कराएगाअगर वाकई में ये दावा कारोना के मरीजों पर काम कर जाती है तो मौत के मुंह में खड़ी पूरी दुनिया को राहत मिल जाएगी।

Related posts

आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कल होगी सुनवाई

Breaking News

राष्ट्रपति के अभिभाषण से बजट सत्र शुरू होगा, जेटली का पिटारा 1 फरवरी को खुलेगा

Rani Naqvi

भारत की अमूल्य धरोहर को संरक्षित करना ही सच्चा राष्ट्रवाद है -उपराष्ट्रपति

mahesh yadav