September 26, 2021 12:52 am
featured हेल्थ

रूस में बनी कोरोना वैक्सीन जिंदगी नहीं बल्कि मौत को दे रही दावत ?, हुआ बड़ा खुलासा..

corona russaia 1 रूस में बनी कोरोना वैक्सीन जिंदगी नहीं बल्कि मौत को दे रही दावत ?, हुआ बड़ा खुलासा..

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को मौत के मुंह में लाकर खड़ा दिया है। तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोना की दवाई नहीं बन सकी है। इस बीच कोरोना की दवाई बनाने की खूब कोशिश हो रही है।

corona russia 2 1 रूस में बनी कोरोना वैक्सीन जिंदगी नहीं बल्कि मौत को दे रही दावत ?, हुआ बड़ा खुलासा..

लेकिन अभी तक कोरोना की कोई सही दवाई नहीं बन सकी है। हालाकि कि, रूस ने कोरोना की दवाई बनाने का दावा करते हुए दुनिया को चौंका दिया है। जिसको लेकर काफी सवाल भी उठ रहे हैं। इस बीच रूस में बनी कोरोना की दवाई को लेकर बड़ा संकेत मिला है।
ऑकलैंड विश्वविद्यालय की प्रोफेसर निकी टर्नर ने कहा कि रूस के वैक्सीन को रजिस्टर किया गया है लेकिन उसके तीसरे चरण का ट्रायल उतना भरोसेमंद नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यहां बड़ा खतरा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में ऐसा वैक्सीन है, जिसे मुझे छूने में भी डर लगेगा। सबसे अहम है कि वैज्ञानिक अपने डेटा को पब्लिश करे और वह डेटा पारदर्शी हो। ताकि बाहर लोग आपके डेटा पर चर्चा कर सके।’ उन्होने कहा कि रूस जैसे ही हड़बड़ी में कोरोना वैक्सीन जारी करने से बचना चाहिए। लोगों में वैक्सीन को लेकर सुरक्षा की भावना होनी चाहिए।

ऑक्सफोर्ड संस्थानों के वैज्ञानिकों का मानना है कि रूस के शॉर्टकट से सेहत को खतरा हो सकता है। वैज्ञानिकों का तर्क है कि वैक्सीन के मनुष्यों पर ट्रायल में कई वर्ष लगते हैं, जबकि रूस ने ये दो महीने से भी कम में किया है। WHO के प्रवक्ता तारिक जसारविक ने कहा कि वैक्सीन को अनुमति देने से पहले असर और सुरक्षा को जांचा जाता है उसके बाद ही निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है।डेली मेल के रिपोर्ट के मुताबिक रूसी वैक्सीन केवल 38 वॉलंटियर्स को ही दिए गए हैं। वैक्सीन देने के बाद उनमें 144 तरह के साइड इफेक्ट का दावा अखबार ने किया है। यह भी कहा गया है कि ट्रायल के 42 वें दिन तक 31 वॉलंटियर्स में साइड इपेक्ट नजर आ रहे हैं। इसके आलावा ये भी सामने आया है कि ट्रायल के तीसरे चरण पर रूस कोई जानकारी देने के लिए तैयार नहीं है।

https://www.bharatkhabar.com/death-rate-less-than-one-percent-in-nine-districts-of-uttarakhand/
आपको बता दें रूस ने कोरोना की इस दवाई की कोई खास जानकारी नहीं दी है। जिसकी वजह से कोरोना की दवाई को लेकर काफी सवाल उठ रहे हैं।

Related posts

महाराष्ट्र: बीजेपी पार्षद पर लगा आरोप, शादी का झांसा देकर करता था रेप

Pradeep sharma

‘गोपालगंज टू रायसीना: माई पॉलिटकिल जर्नी’ में लालू ने खोला नीतीश कुमार का ये राज

bharatkhabar

बजट पेश करने से पहले सीएम योगी करेंगे कैबिनेट मीटिंग

Vijay Shrer