November 25, 2022 10:04 pm
featured दुनिया देश भारत खबर विशेष शख्सियत

आजादी की लड़ाई में महात्मा गांधी की भूमिका

gandhi 4 आजादी की लड़ाई में महात्मा गांधी की भूमिका

इस बार 15 अगस्त के दिन भारत की आजादी के 70 साल पूरे होने जा रहे हैं। लेकिन अगर बात की जाए आजादी की लड़ाई की तो आजादी के लिए अंग्रेजों के सामने दो प्रकार का आंदोलन किया गया था। अंग्रेजों के खिलाफ दो प्रकार के आंदोलन किए गए थे। एक हिंसक तो दूसरा सशस्त्र क्रान्तिकारी आंदोलन। भारत की आजादी के लिए 1757 से लेकर 1947 के बीच में जितने भी आंदोलन किए गए हैं उनमें कई क्रांतिकारी शहीद भी हुए हैं। भारत की आजादी के लिए जितने भी क्रांतिकारी शहीद हुए उनके नाम सुनहरे अक्षरों से लिखे गए हैं।

gandhi 1 आजादी की लड़ाई में महात्मा गांधी की भूमिका

आज के वक्त में भी उनके बलिदानों को याद किया जाता है। कहा जाता है कि भारत की धरती के लिए मातृप्रेम जितना उस वक्त के लोगों में थी वह शायद ही किसी और के मन में आज के लोगों में हो। उस वक्त मातृभूमि के लिए लोग मर मिटने के लिए तक तैयार हो जाते थे। भारत की आजादी के लिए जगह जगह से लोग निकल कर अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाने लग गए थे। प्राचीन वक्त में अपनी समृद्धि और खुशहाली के कारण भारत पर आक्रमण होते रहे हैं। चाहे आर्य, ईरानी, फारसी हो या फिर कोई और हो। पलासी के युद्ध में 1757 में ब्रिटिश भारत में अपनी राजनीति सत्ता फैलाने में कायम हो गए थे। उस वक्त में अंग्रेजों ने भारत में अपने पैर जमा लिए थे। अंग्रेजों में भारत में 200 सालों तक राज किया था। अंग्रेजों की नजर सबसे पहले उत्तर पश्चिमी भारत में पड़ी। जिसके बाद 1856 में उन्होंने अपना कड़ा अधिकार स्थापित कर लिया था।

Related posts

National Parshuram Parishad: राष्ट्रीय परशुराम परिषद के पदाधिकारियों की बैठक संपन्न

Rahul

राकेश अस्थाना होंगे सीबीआई के अंतरिम निदेशक

bharatkhabar

अल्मोड़ा: जनपद में रिकॉर्ड 99.5 प्रतिशत लोगों को लगी वैक्सीन

pratiyush chaubey