Navratri2019: रेवती नक्षत्र के साथ शूरू हो रहा चैत्र नवरात्रि, मां की होगी विशेष कृपा

Navratri2019: रेवती नक्षत्र के साथ शूरू हो रहा चैत्र नवरात्रि, मां की होगी विशेष कृपा

नई दिल्ली। नवरात्रि पर किस प्रकार करें मां की पूजा और कैसे रखें व्रत उपवास इसका विशेष महत्व होता है और यदि ठीक प्रकार से विध-विधान पूर्वक मां की आराधना की जाए तो मनोकामना अवश्य पूर्ण हेाती है। चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा पर शनिवार से वासंती नवरात्र का आरंभ होगा। शक्ति की उपासना का पर्वकाल इस बार श्रेष्ठ योगों से युक्त है। ज्योतिषियों के अनुसार नौ दिवसीय नवरात्र में पांच बार सर्वार्थसिद्धि, दो बार रवियोग तथा एक बार रवि पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है। साधना व सिद्धि के साथ यह दिन नौ दिन देवी कृपा से धन प्राप्ति के उपाय करने के लिए भी श्रेष्ठ बताए जा रहे हैं।
इस बार चैत्र नवरात्रि शनिवार के दिन रेवती नक्षत्र के साथ आरंभ हो रही है। उदय काल में रेवती नक्षत्र का योग साधना व सिद्धि में पांच गुना अधिक शुभफल प्रदान करेगा। नौ दिवसीय पर्वकाल में पांच बार सर्वार्थसिद्धि तथा दो बार रवियोग का होना धर्म शास्त्र की दृष्टि से श्रेष्ठ है। श्रीमद्देवीभागवत के अनुसार ऐसे योगों में देवी साधना का विशेष फल प्राप्त होता है।

घट स्थापना के शुभ मुहूर्त
शुभ : सुबह 7.48 से 9.18 बजे तक
चर: दोपहर 12.18 से 1.48 बजे तक
लाभ : दोपहर 1.48 से 3.18 बजे तक
अमृत : दोपहर 3.18 से 4.48 बजे तक
अभिजीत मुहूर्त सुबह 11.30 से 12.50 बजे तक
लाभ : सायंकाल 6.41 से रात्रि 8.11 बजे तक