कानपुर से 96 करोड़ रुपये से ज्यादा के पुराने नोट बरामद, सात लोग गिरफ्तार

कानपुर। नोटबंदी के एक साल बीत जाने के बाद भी चलन से बाहर हो चुकी 500 और 1000 रुपये के नोटो की पुरानी करंसी मिलना बंद नहीं हो रही है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है, जहां एनआईए और यूपी पुलिस ने साझा कार्रवाई करते हुए 96 करोड़ रुपये से ज्यादा के 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट जब्त किए हैं। इसी के साथ पुलिस ने शहर के दो नामी लोगों के समेत सात लोगों को भी हिरासत में लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक ये नोट पूर्वांचल के एक्सचेंज करने वालों के माध्यम से खपाए जाने थे। शहर के एसएसपी अखिलेश कुमार ने क्राइम ब्रांच की सूचना पर एसपी पश्चिम डॉ गौरव ग्रोवर व एसपी पूर्वी अनुराग आर्य की टीम के साथ ये छापा मारा।

टीम ने स्वरूपनगर, गुमटी, जनरलगंज व अस्सी फिट रोड़ स्थित व्यापारियों के प्रतिष्ठानों में छापेमारी कर इस नकदी को बरामद किया है।  बताया जा रहा है कि देर रात तक पुलिस पूछताछ के आधार पर छापेमारी करती रही। वहीं आयकर विभाग की टीम पकड़े गए लोगों से पूछताछ कर रही है और बरामद की गई नकदी की गिनती पूरी कर ली है। शहर में इतनी ज्यादा मात्रा में पुराने नोट लोगों के घरों व गोदामों में रखे हैं और संबंधित विभागों को जानकारी तक नहीं है।

इतनी बड़ी रकम बरामदगी के बाद आयकर विभाग से लेकर विजलेंस टीम तक की आंखें फटी की फटी रह गईं। इस बरामदगी के बाद आयकर टीम ने शहर के अन्य नामी हस्तियों पर अपनी नजर गड़ा दी है। एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच पड़ताल व छापेमारी जा रही है। पुरानी करंसी रखने पर जेल जाने के साथ बरामद रकम पर पांच गुना आयकर देना होगा। जमा न करने की स्थिति में इसकी रिकवरी उनकी चल-अचल संपत्ति से की जायेगी।

   Aman Kumar Verma