Breaking News यूपी

प्रयागराज में धरे गए तीन शातिर, रेमडेसीविर इंजेक्शन की हो रही कालाबाजारी

remdesivir inj 1 प्रयागराज में धरे गए तीन शातिर, रेमडेसीविर इंजेक्शन की हो रही कालाबाजारी

प्रयागराज: कोरोना संक्रमण के इस दौर में एक तरफ जहां कुछ लोग दूसरों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। वहीं दवाइयों की कालाबाजारी का दौर जारी है। रेमडेसीविर इंजेक्शन से जुड़े मामले में पुलिस ने ऐसे ही 3 लोगों को गिरफ्तार किया।

₹50000 में बिक रहा है एक वॉयल

प्रयागराज में इन दिनों दवाइयों की कालाबाजारी खूब हो रही है, जिस पर लगाम लगाने के लिए प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है। आलम यह है कि रेमडेसीविर इंजेक्शन के एक वॉयल को ₹50000 में बेचा जा रहा है। इसी मामले में पुलिस ने छापेमारी कर 3 लोगों को गिरफ्तारी किया, जबकि एक व्यक्ति फरार हो गया। जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।

व्हाट्सएप चैट और फोन के जरिए गिरफ्तारी

इस कालाबाजारी का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस ने व्हाट्सएप चैट और फोन की मदद ली। जिसके बाद इस पूरे खुलासे को सामने लाया गया। प्रयागराज के स्वरूप रानी अस्पताल के पास एक मेडिकल स्टोर पर काम करने वाले शातिर लोग इस घटना को अंजाम दे रहे थे।

प्रयागराज में धरे गए तीन शातिर, रेमडेसीविर इंजेक्शन की हो रही कालाबाजारी

इनमें विनोद कुमार, राहुल शुक्ला और अनुराग यादव तीनों मजबूर लोगों को रेमडेसीविर इंजेक्शन देने के बदले भारी रकम वसूल रहे थे। पुलिस ने लोगों के पास से चार मोबाइल फोन और ₹5000 बरामद किए। पूछताछ के दौरान उन्होंने बताया कि जो व्यक्ति सबसे ज्यादा ज्यादा दाम देने के लिए तैयार हो जाता था, उसे इंजेक्शन बेच देते थे। इस पूरे नेटवर्क का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस की टीम लगातार जांच पड़ताल कर रही है। जल्द ही सभी आरोपियों को जेल में डाल दिया जाएगा।

एनएसए के तहत हो एक्शन

इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी पहले से ही कड़े निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि किसी भी तरह की अफवाह फैलाने और दवाइयों में कालाबाजारी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ एनएसए की धारा के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Related posts

मुंबई अग्निकांड: वन एबव पब के तीसरे मालिक को भी पुलिस ने किया गिरफ्तार

Breaking News

खड़गे ने साधा मोदी पर निशाना, कहा रेलवे किसी की निजी संपत्ति नहीं

Rahul srivastava

मैनपुरीः तीन युवकों ने किया नाबालिग से दुष्कर्म, जांच में जुटी पुलिस

Shailendra Singh