रामदेव ने लॉन्च किया ई-कॉमर्स प्लेटफार्म, पतंजलि के उत्पाद अब ऑनलाइन भी मिलेंगे

नई दिल्ली। पतंजलि के उत्पाद अब पारंपरिक रिटेल स्टोरों के अलावा ऑनलाइन शॉपिंग की विभिन्न साइटों के माध्यम से भी खरीदे जा सकेंगे। योग गुरु बाबा रामदेव ने ऑनलाइन शॉपिंग के प्रति देश में बढ़ रहे आकर्षण के मद्देनजर “हरिद्वार से हर द्वार तक” अपने उत्पादों को पहुंचाने के लिए मंगलवार को यहां पतंजलि का ई-कॉमर्स प्लेटफार्म लॉन्च किया। इसके लिए पतंजलि ने पेटीएम, फिल्पकार्ड, अमेजन और बिग बास्केट सहित कई अग्रणी ई-रिटेलर और एग्रीगेटर पार्टनर के साथ समझौता किया है।

ramdev
ramdev

रामदेव ने यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ऑनलाइन सहयोगी के साथ समझौते और व्यवस्थाओं को मूल उद्देश्य आम ग्राहकों को पारंपरिक रिटेल व्यवस्था का विकल्प व विस्तार तथा सुविधा व कुशलता प्रदान कराना है। उन्होंने कहा कि यहां इस बात का ध्यान रखा गया है कि नीतियों, मर्यादाओं एवं व्यवस्थाओं का पालन करते हुए स्वदेशी का घर-घर तक विस्तार हो सके और पतंजलि के स्वदेशी उत्पाद समाज के अंतिम व्यक्ति तक आसानी से पहुंच सके। अमेजन को देशी-विदेशी का संगम करार देते हुए कहा कि अमेजन भले ही विदेशी हो लेकिन वह अब स्वदेशी उत्पादों को भी बेचेगा।

हालांकि उन्होंने पतंजलि में किसी भी विदेशी कंपनी की हिस्सेदारी से साफ इनकार किया। उन्होंने कहा कि स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए विदेशी तकनीक के इस्तेमाल में कोई बुराई नहीं है। ऑनलाइन शॉपिंग पर रिटेल दुकानों की तुलना में सामान सस्ता मिलने के सवाल पर रामदेव ने कहा कि अमेजन सहित अन्य सभी कंपनियां हमारे किसी भी उत्पाद को डिस्कांउट के साथ नहीं बेच सकेंगे। इसके लिए पतंजलि ने इन कंपनियों के साथ एक करार किया है। उन्होंने कहा कि हमारी ये ऑनलाइन व्यवस्था वर्तमान में प्रतिदिन 10 लाख से अधिक ऑर्डर निबटाने में सक्षम हैं। इसे भविष्य में एक से दो हजार करोड़ सालाना करने का लक्ष्य है।

उन्होंने पतंजलि के उत्पादों की गुणवत्ता पर कहा कि हमारे यहां तीन सौ से पांच सौ वैज्ञानिक सभी उत्पादों की गहन जांच करते हैं। इसके बावजूद भी यदि भविष्य में किसी उत्पाद में खराबी सामने आएगी तो उसे बाजार से वापस ले लिया जाएगा। रामदेव ने भविष्य की योजना के विषय में बताया कि वह इसी माह अपने रिटेल विक्रेताओं के लिए स्वदेशी लोयल्टी कार्ड लेकर आएंगे। इसमें पांच करोड़ लोगों को 5 लाख का दुर्घटना बीमा और दिव्यांगता पर 2:30 लाख का बीमा का प्रावधान होगा। इसके अलावा जनवरी-फरवरी में 20 हजार लोगों को पंतजलि सेल्समैन सहित अन्य बड़े पदों पर अच्छे पैकेज पर नौकरी भी देगा। इसके अलावा दिव्य जल भी लाया जा रहा है।

उन्होंने इस दौरान पतंजलि की डिस्ट्रीब्यूटरशिप को लेकर होने वाली ठगी पर कहा कि पतंजलि के नाम पर विज्ञापन से करोड़ों रुपए ऐंठे जाते हैं| इससे सावधान रहने की जरूरत है। पतंजलि परिधान के सवाल पर उन्होंने बताया कि अगले वर्ष जनवरी तक बाजार में जींस, बच्चों के कपड़े, खड़ाऊं सहित तीन हजार उत्पाद बाजार में होंगे। उन्होंने बताया कि स्वदेशी उत्पादों के अलावा पतंजलि एक हजार शहीद सैनिकों को मुफ्त शिक्षा के लिए छात्रावास सहित एक स्कूल का भी निर्माण कर रहा है।