Breaking News यूपी

राम मंदिर BJP की नहीं सुप्रीम कोर्ट की देन, वृंदावन में दिखता है सिर्फ BSP का ही काम: सतीश मिश्रा

सतीश मिश्रा राम मंदिर BJP की नहीं सुप्रीम कोर्ट की देन, वृंदावन में दिखता है सिर्फ BSP का ही काम: सतीश मिश्रा

बस्ती। बहुजन समाज पार्टी का प्रबुद्ध सम्मेलन शुक्रवार को बस्ती पहुंचा। यहां पर बसपा महासचिव एवं राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा बीजेपी पर जमकर हमला बोला। सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा की राम मंदिर बीजेपी की देन नहीं बल्कि सुप्रीम कोर्ट की देन है। देश और प्रदेश दोनों जगह बीजेपी की ही सरकार है अगर बीजेपी चाहती तो इसको बहुमत से पारित करवा लेती।

राम के नाम पर बीजेपी कर रही है धन उगाही

सतीश चंद्र मिश्रा ने आरोप लगाया कि बीजेपी राम मंदिर के नाम पर धनउगाही कर रही है। उन्होंने कहा कि अब तक बीजेपी 10 हजार करोड़ चंदा जुटा चुकी है। बीजेपी सिर्फ भगवान के नाम पर वोट और नोट लेने का काम करती है। इन्होंने राम के साथ सीता का नाम कभी नहीं लिया। सतीश मिश्रा ने आगे कहा कि बीजेपी राम का नाम ऐसे लेती है जैसे कही युद्ध करने जा रही हो इसलिए कभी राम के साथ सीता का नाम नहीं लिया।

बीजेपी से सनातन धर्म को खतरा

बसपा सांसद ने कहा कि बीजेपी वाले न तो कभी जनेऊ धारण करते हैं ना ही तिलक लगाते हैं और न ही चुटिया रखते हैं। ये लोग अब बड़े मंदिरों का भी अधिग्रहण करना शुरू कर दिए हैं ये लोग सनातन धर्म को खत्म करना चाहते हैं।

दीपोत्सव नहीं अयोध्या के विकास पर खर्च करे धन

सतीश मिश्रा ने कहा की बीजेपी हर साल अयोध्या में दीप उत्सव के नाम पे 30-40 करोड़ खर्चा करती है। अगर यही पैसा अयोध्या के विकास में लगाया जाए तो अयोध्या की तस्वीर बदल सकती है। अयोध्या में आज भी वही काम देखने को मिलता है जिसको बसपा ने अपने 2007-2012 के कार्यकाल के दौरान किया।

वाराणसी के बहाने सरकार को घेरा

उन्होंने वाराणसी के मॉडल पर भी बीजेपी पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि वाराणसी की हालत बहुत ही खराब है। वहाँ रोड में 10 मीटर तक गड्ढे हैं बीजेपी ने विश्वनाथ मंदिर के प्राण प्रतिष्ठित मूर्तियों को भी हटाने और तोड़ने का काम किया है जो की कदापि उचित नहीं है धर्म के खिलाफ है। जैसे कभी बीजेपी ने राम के साथ सीता का नाम नहीं लिया वैसे ही वो वाराणसी में माँ पार्वती को भी भगवाना विश्वनाथ से अलग कर दिया है।

वृंदावन में सिर्फ बसपा का ही काम आज तक दिखता है

आगे उन्होंने कहा कि वृदावन में काम सिर्फ बसपा के ही शासन काल वाले ही आज भी देखने को मिलते हैं। बसपा ने 550 करोड़ रूपए देकर वृदावन को संवारने को काम किया था। बसपा ने ही वृंदावन-मथुरा हाइवे का निर्माण करवाया, गोवर्धन में बसपा सरकार ने मेला घोषित किया था।

सरकारी कंपनियों को बेचकर चुनावी फंड जुटा रही बीजेपी

बीजेपी पर प्रहार करते हुए सतीश मिश्रा ने कहा की बीजेपी सरकार चलाने में पूरी तरह फ़ेल हो गयी है। उसने सभी सरकारी कंपनियों जैसे ONGC, आयल इंडिया, HAL, रेलवे आदि को अपने चहेते उद्योगपतियों के हाथों बेचकर अपनी चुनावी फंडिंग की व्यवस्था कर रही है। नौकरी के नाम पे सिर्फ युवाओं से पकौड़े ही बेचवाने का काम कर रही है। महंगाई अपने चरम पर है, गैस 200 से 900 हो चुका है, तेल 200 रूपए पहुँच चुका है। महिला सुरक्षा के नाम पर हर 2 घण्टे में रेप हो रहा है। बीजेपी ने किसानों के इनकम को खत्म कर दिया है। बीजेपी खुद के फायदे के लिए किसानों को कृषि कानून लाकर उद्योगपतियों के हाथों बेचने का काम कर रही है।

सपा-बीजेपी एक सिक्के के दो पहलू

सतीश मिश्रा ने आगे कहाँ की सपा और बीजेपी एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दोनों के ही सरकार में डकैती लूट हत्या की घटनाएं बढ़ जाती हैं। बलिया और हाथरस काण्ड बीजेपी पर धब्बा है। बीजेपी सरकार खुशी दुबे को ब्राह्मण होने की सज़ा दे रही है। उन्होंने कहा कि बसपा सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय के मुद्दे पर काम करती है। आगे उन्होंने कहा कि अगर आप यूपी में खुशहाली चाहते हैं, अपने बच्चों को आगे बढ़ाना चाहते हैं, यूपी को आगे ले जाना चाहते हैं तो आने वाले 2022 के चुनाव में बसपा की सरकार बनाइये।

Related posts

दलिता नेता मेवाणी की युवा हुंकार रैली को दिल्ली पुलिस ने नहीं दी इजाजत

Breaking News

दुनिया का दूसरा सबसे बड़े बांध में 30 दरवाजे, जाने बांध से जुड़ी बड़ी बातें

Pradeep sharma

रिटार्यड जज एके पटनायक करेंगे चीफ जस्टिस पर लगे आरोपों की जांच

bharatkhabar