September 22, 2021 8:07 pm
featured धर्म

नेपाल के संतों सहित देश के हर हिस्से के साधुओं को मिला अयोध्या का न्योता..

ram 1 नेपाल के संतों सहित देश के हर हिस्से के साधुओं को मिला अयोध्या का न्योता..

राम जन्म भूमि पूजन समारोह का आयोजन 5 अगस्त को होगा। इस पावन अवसर पर पीएम मोदी सहिच 200 लोग इस बड़े आयोजन का हिस्सा बनेंगे। इस बीच निमंत्रण को लेकर काफी चर्चा की जा रही है। अयोध्या में हो रहे आयोजन का हिस्सा बनने के लिए पूरे देशभर से साधु संत पहुंच रहे हैं।

ayodhya 6 नेपाल के संतों सहित देश के हर हिस्से के साधुओं को मिला अयोध्या का न्योता..
भूमि पूजन के लिए सारी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं और अब सभी को 5 अगस्त का बेसब्री से इंतजार है। अब तक के कार्यक्रम के मुताबिक, पीएम मोदी अयोध्या में भूमि पूजन के साथ हनुमानगढ़ी के भी दर्शन करेंगे।राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव और वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि कई संत अयोध्या पहुंच गए हैं। परमानंद महाराजा आ गए हैं। वीएचपी के प्रबंध समिति के सदस्य दिनेश चंद्र आ गए हैं। हरिद्वार से भी अखाड़ों के कई महंत आ गए हैं। कल शाम तक सही लोग आ जाएंगे। संघ प्रमुख मोहन भागवत, सरकार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी और दूसरे पदाधिकारी भी कल रात तक आ जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस आयोजन में हमने देश की 36 आध्यात्मिक परंपराओं के 135 संतों को निमंत्रण भेजा है। नेपाल के संत भी आयोजन में शामिल होंगे।

जनकपुर का बिहार, यूपी, अयोध्या से रिश्ता है। जानकी मंदिर के महंत आएंगे। हमने संतों को बुलाया है कुछ लोग संतों को ही दलित कहते हैं। जिन्हें कुछ लोग दलित कहते हैं वह साधु हो गए है, ऐसे भी अनेक लोग भूमि पूजन में आ रहे हैं। भारत की भूगोल का हर हिस्से से प्रतिनिधित्व यहां होगा। संत महात्मा मिलाकर करीब 175 लोग होंगे।तो वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या के साथ-साथ देश और दुनिया के लिए एक ऐतिहासिक क्षण होगा, जब प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में लगभग 500 सालों की इस परीक्षा के परिणाम के साथ भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण की आधारशिला रखेंगे।

https://www.bharatkhabar.com/ram-mandir-bhumi-pujan-invitation-for-pm-modi/

सीएम ने कहा कि कार्यक्रम के महत्व को समझते हुए, यहां अयोध्या में कार्यों का अवलोकन करने के लिए मैं स्वयं आया हूं। सीएम ने कहा कि बाहर व्यवस्था आदि देखने, निरीक्षण करने के लिए हम यहां आए हैं, कहीं भी कोई कोताही न बरती जाए, हम लोगों ने इसके लिए पूरी तत्परता के साथ तैयारी की है। इसके साथ ही कोरोना का पूरा ध्यान रखकर कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

Related posts

कश्मीर में अलगाववादियों को भड़काने के लिए पाक की ‘ना’पाक कोशिश

Rahul srivastava

पीएमओ को सौंपी रिपोर्ट में गृह मंत्रालय ने कहा, जवान की शिकायत गलत

Anuradha Singh

 रुक्मिणी द्वादशी श्रीकृष्ण ने क्यो और कहां से किया था रुक्मिणी का हरण

mohini kushwaha