January 23, 2022 10:35 pm
featured देश

राजीव गांधी की हत्यारन ने की खुदखुशी की कोशिश, जानिए सालों बाद क्यों उठाया ये कदम..

nalini 1 राजीव गांधी की हत्यारन ने की खुदखुशी की कोशिश, जानिए सालों बाद क्यों उठाया ये कदम..

देश के पांचवे प्रधानमंत्री और गांधी परिवार के बड़े बेट राजीव गांधी की हत्या में शामिल नलिनी ने जेल आत्महत्या करने की कोशिश की है। नलिनी वेल्लोर जेल में बंद है जहां उसने फांसी लगाने की कोशिश की।नलिनी के वकील पी पुगाझेंडी के मुताबिक नलिनी चाहती है कि जिस कैदी से झगड़ा हुआ उसे दूसरी जगह शिफ्ट किया जाए। इस मुद्दे पर बीती रात नलिनी की जेलर से बहस हुई थी। उसके बाद नलिनी ने कपड़े से अपना गला घोंटकर जान देने की कोशिश की। जेल स्टाफ ने उसे रोक लिया। आपको बता दें, नलिनी 29 साल से जेल में बंद है। लेकिनआज से पहले उसने ऐसा कदम नहीं उठाया है।

Rjeev 1 राजीव गांधी की हत्यारन ने की खुदखुशी की कोशिश, जानिए सालों बाद क्यों उठाया ये कदम..

तमिलनाडु के श्रीपेरमबुदूर में एक चुनावी रैली में राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी। उस वक्त वह पीएम नहीं थे। 21 मई 1991 की रात में वह रैली के लिए स्टेज पर चढ़े ही थे कि आतंकी संगठन लिट्टे के आत्मघाती हमलावर ने खुद को विस्फोट से उड़ा दिया। इसमें राजीव गांधी सहित कई अन्य लोगों की मौत हो गई थी। नलिनी इस हत्याहांड में सीधे तौर पर शामिल नहीं थी। अदालत उसे मौत की सजा दी थी लेकिन तमिलनाडु सरकार ने उसकी सजा उम्र कैद में बदल दी थी।

नलिनी तमिलनाडु की वेल्लोर जेल में उम्रकैद की सजा काट रही है। वह 1991 यानी 29 साल से जेल में है। उसकी बेटी का जन्म भी जेल में ही हुआ था। उसके साथ ही राजीव गांधी हत्याकांड के 6 अन्य दोषी भी जेल में हैं। इनमें नलिनी का पति मुरुगन भी शामिल है। तमिलनाडु के श्रीपेरमबुदूर में एक चुनावी रैली के दौरान 21 मई 1991 में लिट्टे के आत्मघाती हमले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या हुई थी। इस मामले में नलिनी को मौत की सजा सुनाई गई थी, लेकिन तमिलनाडु सरकार ने 24 अप्रैल 2000 को उसकी सजा उम्रकैद में बदल दी। जिसके बाद से वो जेल में ही बंद है।

https://www.bharatkhabar.com/mp-governor-lalji-tandon-passed-away/

नलिनी की फांसी गांधी परिवार के कहने पर रोकी गई थी। नलिनी ने आज से पहले इस तरह की हरकत कभी नहीं कि है। उसके वकील का कहना है कि, नलिनी से उसके इस कदम के पीछे की असली वजह पूछी जा रही है।

Related posts

फिर रफ्तार पकड़ेंगे उद्योग, खुशहाल होगा उत्तर प्रदेश का हर उद्यमी: अशोक अग्रवाल  

Aditya Mishra

पंचव तत्व में विलीन हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री, अंतिम संस्कार में शामिल हुए सीएम तीरथ

Saurabh

ट्रंप की ‘ट्वीट वार’, ट्रंप ने की हमले के बयान की निंदा

Pradeep sharma