भगवा रंग में रंगा राजस्थान युवा बोर्ड

नई दिल्ली। राजस्थान युवा बोर्ड अक्सक विवादों में बना रहता हैं। और एक बार आगानी विधानसभा चुनाव से पहले विवादों का हिस्सा बन गया हैं। राजस्थान युवा बोर्ड फिर विवादों में हैं। मंगलवार को बोर्ड की ओर से हुए एक सरकारी समारोह को भगवामय कर यहां आरएसएस की शाखा लगाने और प्रार्थना ही करवाने का एलान कर दिया गया। मामला मंगलवार से शुरू हुए युवा साहसिक महोत्सव का हैं। जिसमें चार सौ से ज्यादा युवा साहसिक गतिविधियों का प्रशिक्षण ले रहे हैं।

राजस्थान युवा बोर्ड ने मंगलवार से स्काउट गाइड प्रशिक्षण केन्द्र पर युवा साहसिक महोत्सव शुरू हुआ. इसमें स्काउट-गाइड समेत प्रदेश के कई स्कूल कॉलेजों के युवा भाग ले रहे हैं। इस समारोह की विधिवत शुरूआत तो हुई लेकिन विवादों के साथ।  दरअसल, इस पूरे समारोह स्थल को भगवामय रंग में बनाया गया। भगवा थीम पर समारोह की सजावट की गई।

यहीं नहीं, मंच से युवा बोर्ड चेयरमैन ने एलान किया कि वे पांच दिनों के इस कार्यक्रम की हर दिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की प्रार्थना ‘नमस्ते सदा वत्सले’ से की जाएगी। बाकायदा शाखा लगाई जाएगी। जब इस मामले पर उनसे इस तरह की घोषणा के बारे में पूछा गया तो बोले कि ज्यादातर युवा यहां आरएसएस से जुड़े हुए हैं और उनके आग्रह पर ही ये कराने का निर्णय लिया गया।

बोर्ड द्वारा आयोजित किए जा रहे इस सरकारी समारोह को भगवामय और आरएसएस के रंग में रंगने पर मदरसा बोर्ड का भी समर्थन मिल गया। मदरसा बोर्ड की चेयरमेन मेहरूनिसा टांक भी बोर्ड अध्यक्ष के समर्थन में उतरी। उन्होंने मीडिया को रंगों की राजनीति नहीं करने की सलाह दे डाली। साथ ही ये भी कहा कि सभी हिन्दुस्तानियों का एक ही रंग हैं।