featured राजस्थान

REET पेपर लीक मामला: RBI बोर्ड अध्यक्ष बर्खास्त, नकल करने वाले अभियार्थियों के रद्द होंगे रिजल्ट

rajasthan board of secondary education chairman dp jaroli 1643440139 REET पेपर लीक मामला: RBI बोर्ड अध्यक्ष बर्खास्त, नकल करने वाले अभियार्थियों के रद्द होंगे रिजल्ट

राजस्थान में पेपर लीक मामले में सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है। राजस्थान सरकार ने मामले में आरबीएसई बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली को हटा दिया है। वहीं एसओजी शिक्षा संकुल में कोऑर्डिनेटर प्रदीप पाराशर को पूछताछ के लिए लाई है।

REET पेपर लीक मामला: RBI बोर्ड अध्यक्ष बर्खास्त

राजस्थान में पेपर लीक मामले में सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है। राजस्थान सरकार ने मामले में आरबीएसई बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली को हटा दिया है। वहीं एसओजी शिक्षा संकुल में कोऑर्डिनेटर प्रदीप पाराशर को पूछताछ के लिए लाई है। बताया जा रहा है कि एसओजी प्रदीप पाराशर को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर सकती है।जारौली को बर्खास्त और सचिव को निलंबित कर दिया गया है।

नकल करने वाले अभियार्थियों के रद्द होंगे रिजल्ट

प्रदीप पाराशर को 2011 और 2012 में कांग्रेस सरकार में भी आरटेट परीक्षा में कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। तब बोर्ड चेयरमैन मंत्री सुभाष गर्ग थे। प्रदीप पाराशर मंत्री सुभाष गर्ग और बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली का करीबी दोस्त है। ऐसे में प्रदीप पाराशर को शिक्षा संकुल में कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। उसके साथ ही चार कोऑर्डिनेटर भी थे। REET पेपर लीक मामले में जांच की आंच मंत्री से लेकर बोर्ड अध्यक्ष, सचिव व कोऑर्डिनेटर तक पहुंच चुकी है। वहीं इस मामले में शामिल अभ्यर्थियों की मुश्किलें भी बढ़ सकती हैं। ऐसे अभ्यर्थियों का रिजल्ट रद्द कर अयोग्य घोषित किया जा सकता है।

रीट परीक्षा लेवल 2 की एसओजी कर रही है जांच

जिन अभ्यर्थियों ने नकल के सहारे रीट पास की है, उनकी बोर्ड से डिटेल लेकर रिजल्ट रद्द करवाया जाएगा। ऐसे सभी अभ्यर्थियों को अयोग्य घोषित करवाकर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसओजी ऐसे 13 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। रीट परीक्षा लेवल 2 की एसओजी जांच कर रही है। लेवल 1 की परीक्षा के संबंध में उनके पास कोई मामला दर्ज नहीं है और कोई जांच भी नहीं की जा रही है।

विपक्ष कर रहा सीबीआई जांच की मांग

वहीं विपक्ष की ओर से इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की जा रही है। दौसा से सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने मामले में जारौली को गिरफ्तार करने और सीबीआई जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि जारोली की बर्खास्तगी से काम नहीं चलेगा उन्हें तत्काल गिरफ्तार किया जाए साथ ही इस पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंपी जाए ताकि ब्यूरोक्रेट्स और नेता भी बेनकाब हो। उन्होंने कहा कि इस पूरे पेपर लीक मामले में दो मंत्री व अनेक ब्यूरोक्रेट्स के अधिकारी शामिल हैं।

Related posts

कम किराये के साथ तेज होगी दिल्ली-मुंबई नई राजधानी एक्सप्रेस की रफ्तार

Rani Naqvi

यूपी सरकार के आदेश, नोएडा-गाजियाबाद और लखनऊ में मास्क पहनना अनिवार्य

Rahul

तुम्हारे जीवन में अलमस्ती तभी होगी जब आप परमात्मा की ‘शराब’ पी लोगे: ओशो

Trinath Mishra