featured क्राइम अलर्ट राजस्थान

राजस्थान: लवली कंडारा एनकाउंटर मामले में शुरू हुई Politics, हनुमान बेनीवाल ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग, बीजेपी ने भी दिया धरने को समर्थन

vlcsnap 2021 10 15 18h29m29s306 राजस्थान: लवली कंडारा एनकाउंटर मामले में शुरू हुई Politics, हनुमान बेनीवाल ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग, बीजेपी ने भी दिया धरने को समर्थन   

जोधपुर में लवली कंडारा एनकाउंटर का मामला हर दिन तूल पकड़ता जा रहा है। कंडारा एनकाउंटर को लेकर दलित समाज का धरना प्रदर्शन मथुरादास माथुर अस्पताल में तीसरे दिन भी जारी रहा। अब इस धरने को राजनीतिक पार्टियों का समर्थन मिलना भी शुरू हो गया है।

 हनुमान बेनीवाल ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग

जोधपुर में लवली कंडारा एनकाउंटर का मामला हर दिन तूल पकड़ता जा रहा है। कंडारा एनकाउंटर को लेकर दलित समाज का धरना प्रदर्शन मथुरादास माथुर अस्पताल में तीसरे दिन भी जारी रहा। अब इस धरने को राजनीतिक पार्टियों का समर्थन मिलना भी शुरू हो गया है। सियासी तड़का लगाने के लिए शनिवार को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल भी जोधपुर में दलित समाज की ओर से दिए जा रहे धरने में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की। साथ ही इसे वाल्मीकि समाज पर लगातार अत्याचार होने का आरोप लगाया। इस दौरान हनुमान बेनीवाल कांग्रेस और पुलिस प्रशासन पर भी हमलावर हुए। उन्होंने कहा कि राजस्थान में गुंडाराज चल रहा है। जहां पुलिस को कार्रवाई करनी होती है वहां नहीं की जाती है।

दलित समजा के धरने में शामिल हुए बीजेपी नेता   

वहीं दूसरी ओर प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने भी मथुरादास अस्पताल पर पहुंचकर धरने को समर्थन दिया। निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर बीजेपी के जिला अध्यक्ष देवेंद्र जोशी और नगर निगम दक्षिण के महापौर विनीता सेठ धरना स्थल पर पहुंची। दोनों ही नेताओं ने एनकाउंटर की निंदा करते हुए इसे फर्जी बताया और कहा कि परिवार को न्याय मिलना चाहिए। वहीं देवेंद्र जोशी ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह नगर के कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं। मुख्यमंत्री को इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए मामले की निष्पक्ष जांच के आदेश देने चाहिए।

उपचुनावों के बीच एनकाउंटर पर सियासत जारी

लवली कंडारा एनकाउंटर को लेकर जोधपुर पुलिस पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। प्रदेश में उपचुनावों के लिए कुछ ही समय बचा है। ऐसे में सियासत भी हाई हो गई है। विपक्षी पार्टियां दलितों के साथ हो गई हैं। जोधपुर जिला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का गृह जिला है। विपक्ष अब मुख्यमंत्री पर सीधा कटाक्ष करते हुए प्रदेश का कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहा है। इस मामले ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है।

जोधपुर पुलिस ने किया था लवली कंडारा का एनकाउंटर

बता दें कि दो दिन पहले जोधपुर पुलिस ने बदमाश लवली कंडारा का एनकाउंटर किया था। लंबे समय से फरार चल रहे कंडारा का पीछा करते हुए पुलिस ने एनकाउंटर में उसे मार गिराया। जिसके बाद पुलिस की ओर से इसे जवाबी कार्रवाई बताया गया। जोधपुर पुलिस ने कहा कि लवली कंडारा ने पहले पुलिस पर फायरिंग की थी जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने फायरिंग की। जिसमें लवली कंडारा की मौत हो गई। लेकिन अब दलित समाज की ओर से इसे फर्जी एनकाउंटर बताया जा रहा है और जोधपुर पुलिस पर कार्रवाई करने की मांग की जा रही है।

Related posts

गौ-हत्या रोकने के लिए केंद्र को बनाना चाहिए कानून: हाईकोर्ट

bharatkhabar

टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री हुए कोरोना पाजिटिव, टीम के अन्य चार सदस्य भी आइसोलेटेड हुए

Nitin Gupta

हरिद्वार में बसंत पंचमी की तैयारियां हुईं तेज, सुरक्षा व्यवस्था पर सीएम रावत सख्त

Aditya Mishra