featured राजस्थान

धौलपुर:  रीट परीक्षा में भाग लेने पहुंचेंगे 40 हजार परीक्षार्थी, जिला प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती, DC लगातार ले रहे अधिकारियों की मीटिंग

456 धौलपुर:  रीट परीक्षा में भाग लेने पहुंचेंगे 40 हजार परीक्षार्थी, जिला प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती, DC लगातार ले रहे अधिकारियों की मीटिंग

26 सितंबर को राजस्थान के कई जिलों में रीट परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। इसी के तहत धौलपुर जिले में भी रीट परीक्षा के सेंटर बने हुए हैं। रीट परीक्षा में 40 हजार से अधिक परीक्षार्थी भाग लेने 24 से 26 सितंबर तक धोलपुर पहुंचेंगे।

रीट परीक्षा में भाग लेने पहुंचेंगे 40 हजार परीक्षार्थी

26 सितंबर को राजस्थान के कई जिलों में रीट परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। इसी के तहत धौलपुर जिले में भी रीट परीक्षा के सेंटर बने हुए हैं। रीट परीक्षा में 40 हजार से अधिक परीक्षार्थी भाग लेने 24 से 26 सितंबर तक धोलपुर पहुंचेंगे। वहीं परीक्षार्थियों के उनके रेहने और खाने की व्यवस्था एक बड़ी चुनौती होगी। जिला कलेक्टर ने सामाजिक संगठनों से भी अनुरोध किया है कि वे भी इस महाकुंभ में भाग लें।

88 परीक्षा केंद्रों पर होने वाली है रीट की परीक्षा

धौलपुर जिले भर के 88 परीक्षा केंद्रों पर होने वाली रीट परीक्षा को लेकर जिला कलेक्टर राकेश जायसवाल बेहद गंभीर हैं। इसी को लेकर जिला कलेक्टर ने मैराथन बैठक की। पिछले 2 दिन से परीक्षा की तैयारियों को लेकर जिला कलेक्टर मैराथन बैठक कर रहे हैं। बैठक में परीक्षार्थियों के आने-जाने से लेकर खाने-पीने तक की व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए की सभी परीक्षा सेंटरों पर स्वास्थ्य कर्मी रहेंगे।  जिला कलेक्टर हर दिन आधा दर्जन विभागों के साथ बैठक कर रहे हैं। धौलपुर आने वाले परीक्षार्थियों की देखरेख के लिए भामाशाह के साथ समाज के प्रतिष्ठित व्यक्तियों के लगातार संपर्क में हैं।

परीक्षार्थियों के लिए मास्क अनिवार्य किए गए

मंगलवार को जिला कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर स्वास्थ कर्मी किसी भी परीक्षार्थी के बीमार होने पर उसके इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। वहीं परीक्षा को लेकर कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से सभी परीक्षार्थियों के लिए मास्क अनिवार्य किया है। जिला कलेक्ट्रेट में स्वास्थ विभाग की बैठक लेने के बाद कलेक्टर ने बताया कि जिले भर के 88 परीक्षा केंद्रों पर 40 हजार से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। दो पारियों में होने वाली परीक्षा को लेकर जिले में आने वाले परीक्षार्थियों के लिए निशुल्क यात्रा की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जिले के भामाशाह और समाज के प्रतिष्ठित व्यक्तियों के द्वारा परीक्षार्थियों के रहने और खाने की व्यवस्था भी की गई है।

सुरक्षा के किये गए हैं कड़े बंदोबस्त

वहीं जिला पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिले सहित ब्लॉक स्तर पर भी सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। संग्रहण केंद्र,प्रश्न पत्रों की सुरक्षा व्यवस्था हेतु पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। ट्रैफिक व्यवस्था के संबंध पर्याप्त व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि हर परीक्षा केंद्र पर एक महिला कॉन्स्टेबल और एक शिक्षिका सुरक्षा व्यवस्था के रूप में तैनाती रहेगी। नकल की संभावनाओं और अफ़वाहों को ध्यान में रखकर व्यवस्थाएं की गई हैं। परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा हेतु जाब्ता तैनात किए गए हैं।

रिपोर्ट- इरफान खान

Related posts

World Corona Update : दुनियाभर में कोरोना मामलों की संख्या हुई 24.9 करोड़

Neetu Rajbhar

सुब्रत रॉय की पैरोल अवधि 17 अप्रैल तक बढ़ी, जमा कराने होंगे 5092 करोड़ 

Rahul srivastava

साइकिल छोड़ हाथी पर सवार हुए अंबिका चौधरी

shipra saxena