लोकसभा चुनाव में राजस्थान की इस सीट पर असमंजस बरकरार

लोकसभा चुनाव में राजस्थान की इस सीट पर असमंजस बरकरार

एजेंसी, जयपुर। राजस्थान की बांसवाड़ा डूंगरपुर लोकसभा सीट के लिए चुनाव चौथे चरण में 29 अप्रैल को होंगे। प्रदेश की बांसवाड़ा-डूंगरपुर सीट उदयपुर संभाग की चार सीटो में से एक सीट है। यह सीट एससी एसटी के लिए आरक्षित है। वर्तमान में भाजपा के मानशंकर निनामा इस सीट से सांसद हैं। आजादी के बाद से बांसवाड़ा संसदीय क्षेत्र कांग्रेस का गढ़ रहा लेकिन पिछले छह-सात सालों में बीजेपी और अन्य दलों ने अपनी जबरदस्त पैठ बना ली है। यहां अब तक हुए 16 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 12 बार जीती है। जनता पार्टी और बीजेपी ने दो-दो बार यहां से जीत हासिल की।

इस बार होगा त्रिकोणीय और रोचक मुकाबला

दिसंबर, 2018 में सपन्न हुए राजस्थान विधानसभा चुनाव में डूंगरपुर जिले की चौरासी और सागवाड़ा विधानसभा सीटों पर भारतीय ट्राईबल पार्टी के दो उम्मीदवारों ने अप्रत्याशित रूप से जीत हासिल कर सभी को चौंका दिया था। इस बार भी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस, भाजपा और बीटीपी के उम्मीदवारों के बीच रोचक चुनावी मुकाबला देखने को मिल सकता है।

बांसवाड़ा-डूंगरपुर लोकसभा संसदीय क्षेत्र में बांसवाड़ा के बांसवाडा, घाटोल, गढ़ी, बागीदौरा और कुशलगढ़ शामिल है। वहीं डूंगरपुर जिले में डूंगरपुर, सागवाड़ा और चौरासी 3 विधानसभा सीट आती हैं।

बांसवाड़ा डूंगरपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली 8 विधानसभा सीटों में से 3 पर कांग्रेस, 2 पर बीजेपी, 2 पर बीटीपी और 1 पर निर्दलीय का कब्जा है। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में बागीदौरा सीट छोड़ कर बीजेपी का 7 सीटों पर कब्जा था।