September 17, 2021 11:33 pm
featured राजस्थान

भरतपुर: गिर्राज विला में आयोजित हुआ ईद मिलन समारोह, आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील

WhatsApp Image 2021 07 25 at 17.36.19 3 भरतपुर: गिर्राज विला में आयोजित हुआ ईद मिलन समारोह, आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील

अनिल चौधरी, संवाददाता

गोपालगढ स्थित गिर्राज विला में पार्षद ऋषिराज के सहयोग से ईद मिलन समारोह आयोजित हुआ। जिसमें तकनीकी एवं संस्कृत षिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग और नगर विधायक वाजिब अली ने शिरकत की।

‘धर्म आपस में वैर रखना नहीं सिखाता’

समारोह में तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने सभी को मुबारकबाद देते हुये कहा कि विकास के लिये आपसी भाईचारा बनाये रखना जरूरी है। कोई भी धर्म आपस में वैर रखना नहीं सिखाता। उन्होंने कहा कि ईद के दिन जो कुर्बानी दी जाती है वह त्याग का प्रतीक है।

ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट की चर्चा

डॉ. गर्ग ने ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट की चर्चा करते हुये कहा कि, यह कैनाल पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों की जीवनदायनी बनेगी। जिसको स्वीकृत कराने के लिये किसान आन्दोलन की तरह इन सभी जिलों के किसानों को साथ लेकर आन्दोलन शुरू किया जायेगा। क्योंकि जब इस कैनाल के माध्यम से इन जिलों में पर्याप्त पेयजल व सिंचाई के लिये पानी मिलना शुरू हो जायेगा।

उन्होने कहा कि कृषि उत्पादन बढने के साथ ही कृषि व पशुपालन पर आधारित उद्योग धन्धों का भी सूत्रपात होगा जिससे बेरोजगारी की समस्या दूर हो सकेगी।

‘बच्चों को बेहतर शिक्षा जरूरी’

वहीं तकनीकी एवं संस्कृत षिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि मुस्लिम समाज के लोगों के बच्चों को निकटतम स्थान पर अध्ययन की सुविधा मुहैया कराने की दृष्टि से मछली मौहल्ले में सरकारी प्राथमिक स्कूल खोला जायेगा। उन्होंने सभी लोगों से आग्रह किया कि वे अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलायें।

‘शिक्षा ही कल्याण का मार्ग’

उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में अच्छी षिक्षा की व्यवस्थाऐं एवं अनेक छात्रवृति की योजनाऐं जारी कर रखी हैं। शिक्षा ही कल्याण का मार्ग है और इसके द्वारा ही विकास की दिषा में आगे बढा जा सकता है।

‘बच्चों को अच्छी तालीम की आवश्यकता’

साथ ही कार्यक्रम में नगर के विधायक बाजिव अली ने कहा कि हम सबको मिलकर एक-दूसरे धर्मों के लोगों के त्यौहारों में शामिल होकर खुशियों का इजहार करना चाहिये। ताकि भाईचारे की भावना और अधिक बलवति हो सके। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को अपने बच्चों को अच्छी तालीम दिलाने की आवश्यकता है जिससे वे वर्तमान समय के अनुसार अपना रोजगार अथवा स्वरोजगार का कार्य अच्छी तरह से कर सकें।

‘लोगों के दुख-दर्दों में शामिल हों’

उन्होंने सभी मौलवियों से आग्रह किया कि वे उनके क्षेत्र में रहने वाले समाज के लोगों के दुख-दर्दों में शामिल हों, तथा उन्हें विकास के क्षेत्र में आगे बढने का रास्ता बतायें। प्रारम्भ में समाज के लोगों द्वारा डॉ. सुभाष गर्ग एवं वाजिब अली का भव्य स्वागत किया गया।

Related posts

महिला-पुरुष की औसत उम्र का अंतर घटा, स्मोकिंग छोड़ना बनी वजह

lucknow bureua

सीरो सर्वे में प्रदेश के लिए राहत वाली खबर, 70% से अधिक में मिली एंटीबॉडी

Aditya Mishra

ऑक्सीजन की कमी पर मायावती का ट्वीट, केंद्र सरकार से की ये मांग  

Shailendra Singh