दो साल में पूरी होने वाली भर्ती को 6 महीने में पूरी करेगा रेलवे

दो साल में पूरी होने वाली भर्ती को 6 महीने में पूरी करेगा रेलवे

नई दिल्ली। रेलवे अपने स्टाफ की भर्ती में लगने वाली करीब दो साल के वक्त को कम करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। अगर प्रस्ताव के मुताबिक काम हुआ तो भर्ती की प्रक्रिया दो साल की बजाए छह महीने में ही पूरी हो सकेगी। बता दें कि इस वक्त रेलवे के स्टाफ की भारी कमी है। इसलिए भर्ती को आसान बनाने के लिए विकल्पों पर विचार कर रहा है। इसमें अन्य उपायों के अलावा ऑनलाइन टेस्ट भी शामिल है। दरअसल रिक्त पदों पर भर्ती करने का मसला 24 नवंबर को वोस्कोडिगामा-पटना एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के बाद उठाया गया। बैठक के मिनट्स का कहना है कि नार्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे के जनरल मैनेजर सी. राम का कहना है कि भर्ती प्रक्रिया में काफी वक्त लगता है। आवेदन मिलने के बाद से करीब-करीब दो साल लग जाते हैं।

indian railway
indian railway

बता दें कि इसके लिए ऑनलाइन टेस्ट और अन्य उपाय करते हुए। इसकी गति बढ़ाई जाना चाहिए राम ने बैठक में 17 महाप्रबंधकों की मौजूदगी में यह बात कही थी। 20 तक मंगाए प्रस्ताव राम के सुझाव पर चेयरमैन लोहानी ने कहा था कि रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) को समूची प्रक्रिया की समीक्षा कर इसे छह माह में पूरी करने का लक्ष्य रखना चाहिए। इसके साथ ही बोर्ड ने रेलवे के सभी विभागों को निर्देश दिया कि इस मुद्दे पर सभी अपने प्रस्ताव 20 दिसंबर तक प्रेषित करें। जल्दी भर्ती का यह सुझाव भी रेलवे के कुछ अन्य महाप्रबंधकों ने उक्त बैठक में कई अहम सुझाव भी दिए। कुछ का कहना है कि जोनल रेलवे को अपनी रिक्तियों की सूचना बोर्ड को देने की बजाए सीधे आरआरबी को देने की अनुमति देना चाहिए। इससे भी स्टाफ भर्ती में कम वक्त लगेगा।