February 5, 2023 12:05 am
देश featured राज्य

गुजरात नवसृजन दौरें के बाद एक बार सियासी मैदान में उतरेंगे राहुल

rahul gandhi

अहमदाबाद। गुजरात चुनाव जितना करीब आ रहे हैं उतनी हा तोजा से राजनीति पार्टियां खुद को मजबूत करने लगी हुई हैं। गुजरात में सत्ता हासिल करने के लिए कांग्रेस दलित कार्ड खेलने की तैयारी कर रही है। पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात नवसृजन यात्रा के चारों दौर की यात्रा को पूरी करने के बाद एक बार सियासी मैदान में उतरेंगे। अपनी दो दिवसीय यात्रा के तहत राहुल दलित शक्ति का दौरा करेंगे और राष्ट्रीय ध्वज को पूरे सम्मान के साथ स्वीकार करेंगे। साथ ही वह भारत को छुआ-छूत जैसी कुप्रथाओं से मुक्त करने के लिए भी शपथ लेंगे।

rahul gandhi
rahul gandhi

बता दें कि दलित शक्ति केंद्र द्वारा जारी बयान के मुताबित यह भारत का सबसे राष्ट्रीय ध्वज है जो 125 फुट चौड़ा और 83.3 फुट ऊंचा है। इसी दलित शक्ति केंद्र पर विजय रुपाणी को राष्ट्रीय ध्वज पेश किया गया था और उन्हें बाबा साहेब की तरह छुआ-छूत प्रथाओं को खत्म करने की शपथ लेने के लिए कहा था जिसे सीएम ने इंकार कर दिया था। रुपाणी की ओर से गांधीनगर कलेक्ट्रेट के अधिकारियों ने कहा था कि उनके पास राष्ट्रीय ध्वज रखने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है इसलिए वह इस ध्वज को नहीं ले सकते हैं।

वहीं गुजरात में 7 फीसदी दलित मतदाता हैं। राज्य की 182 सीटों में से 13 सीटें अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं। गुजरात में दलित मतदाताओं पर भाजपा की मजबूत पकड़ मानी जाती है। 2012 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी इन 13 सीटों में से 10 सीटें जीतने में सफल रही है जबकि कांग्रेस के खाते में 3 सीटें आई थी। राहुल गांधी राज्य के दलित मतदाताओं को साधने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं।

Related posts

कांग्रेस ने पीएम पर फिर बोला हमला, कहा जब देश रो रहा था पीएम करा रहे थे फोटोशूट

bharatkhabar

आज से हर रात दिखेगा टूटता हुआ तारा, जानिए कब देख सकेंगे ये खूबसूरत नजारा..

Rozy Ali

ममता बनर्जी जन्मजात विद्रोही हैं: प्रणब मुखर्जी

Rani Naqvi