3b48c287 8b16 447d a96e 3b79de1abe9b राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- ये उस समय की बात है जब पड़ोसी देश सीमा का उल्लंघन करने से डरते थे
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आज का दिन भारतीय इतिहास के लिए बड़े गौरव का दिन है। आज भारत-पाकिस्तान के युद्ध को पूरे 50 साल हो चुके हैं। जिसके चलते आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के 50 साल पूरा होने के अवसर पर बुधवार को राजधानी दिल्ली स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक की अमर ज्योति से ‘‘स्‍वर्णिम विजय मशालें’’ प्रज्‍ज्वलित कर उन्हें देश के विभिन्न हिस्सों में रवाना किया। इसी बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि ये उस समय की बात है जब भारत के पड़ोसी देश भारत के प्रधानमंत्री का लोहा मानते थे और हमारे देश की सीमा का उल्लंघन करने से डरते थे। इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट करके देश को बधाई दी।

देश आज विजय दिवस की 48वीं सालगिरह मना रहा-

बता दें कि विजय दिवस के मौके पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा है। राहुल गांधी ने लिखा कि सन् ‘71 में भारत की पाकिस्तान पर ऐतिहासिक जीत के उत्सव पर देशवासियों को शुभकामनाएँ और सेना के शौर्य को नमन। ये उस समय की बात है जब भारत के पड़ोसी देश भारत के प्रधानमंत्री का लोहा मानते थे और हमारे देश की सीमा का उल्लंघन करने से डरते थे। देश आज शौर्य की गाथा का प्रतीक विजय दिवस की 48वीं सालगिरह मना रहा है। 1971 में पाकिस्तान के साथ चली 13 दिन की लड़ाई के बाद आज के दिन भारतीय सेना ने फतह हासिल की थी। इस जंग में करीब 3843 भारतीय सैनिकों ने अपने प्राण न्योछावर किए। इस युद्ध की जीत का ही परिणाम था कि पाकिस्तान के करीब 90 हजार सैनिकों ने सरेंडर किया और फिर दुनिया ने इतिहास बनते देखा, पूर्वी पाक अलग हुआ और बांग्लादेश का जन्म हुआ। राष्ट्रपति प्रधानमंत्री कोविंद से लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने आज अपने वीर बहादुर सिपाहियों के बलिदान को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि दी।

पीएम मोदी ने नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंच कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी-

भारतीय सेना की गौरवशाली जीत के 50 साल पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘विजय दिवस’ के अवसर पर ‘विजय ज्योति यात्रा’ को राजधानी दिल्ली से रवाना भी किया। पीएम मोदी ने नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंच कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुख मौजूद रहे। ‘विजय ज्योति यात्रा’ में चार ‘विजय मशाल’ एक साल की अवधि में पूरे देश के छावनी क्षेत्रों का भ्रमण करेंगी और अगले साल नई दिल्ली में ही पूरी होगी।

भारत-पाक युद्ध के 50 साल पूरे, पीएम मोदी ने ‘स्‍वर्णिम विजय मशालें’ प्रज्‍ज्वलित कर देश के विभिन्न हिस्सों में किया रवाना

Previous article

नगर परिषद सभापति चुनाव के लिए शुरू हुई प्रक्रिया, जानें किन उम्मीदवारों ने किया नामांकन दाखिल

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.