राज्य यूपी

pvs मॉल बना मौत का मॉल, प्रेमी युगल ने दूसरी मंजिल से लगाई छलांग, सुरक्षा के नहीं है इंतेजाम

pvs mall, built, mall of death, lovers, second, floor, jumped, no security, arranged

मेरठ। शहर के पीवीएस मॉल में शुक्रवार शाम एक प्रेमी युगल ने अचानक छलांग लगा दी। दोनों गंभीर रुप से घायल प्रेमी युगल को मेरठ के मेडिकल की इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है। लेकिन इस घटना ने पीवीएस मॉल में सुरक्षा की पोल खोलकर रख दी है। मॉल में सुरक्षा के लिए नेट नहीं लगाए गए थे।

pvs mall, built, mall of death, lovers, second, floor, jumped, no security, arranged
lovers took the second floor jumped

मेरठ के पीवीएस मॉल में शुक्रवार शाम को पिलखुवा का रहने वाला शानू अपनी गर्लफ्रेंड गुलिस्ता को साथ लेकर घूमने आया था और उनका इरादा मूवी देखने का भी था। लेकिन दोनों के दिमाग में चल रही उथल-पुथल के बीच अचानक कुछ हुआ और दोनों ने मॉल की दूसरी मंजिल से जमीन की ओर छलांग लगा दी। मॉल में प्रेमी युगल के छलांग लगाते ही चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई और सारे लोग प्रेमी युगल को बचाने में जुट गए। दोनों को मेरठ के मेडिकल इमरजेंसी में भर्ती कराया गया, जहां दोनों का इलाज जारी है। होश में आई गुलिस्ता का कहना है कि उन्होंने आत्महत्या की कोशिश नहीं की थी। किसी तरह खुद गुलिस्ता का ही हाथ फिसल गया था और उसे बचाने के लिए शानू भी मॉल में कूद पड़ा।

pvs mall, built, mall of death, lovers, second, floor, jumped, no security, arranged
lovers took the second floor jumped

शानू और गुलिस्ता ने आत्महत्या की कोशिश थी या सच में एक हादसा था। इसकी पड़ताल पुलिस कर रही है, लेकिन इस घटना के बाद से पीवीएस मॉल की सुरक्षा बल पर सवाल खड़े हो गए हैं। सवाल ये कि इतने बड़े मॉल में सुरक्षा के मानकों की खुलेआम खिल्ली उड़ाई गई। नियम के मुताबिक मॉल में नेट लगाया जाना चाहिए था। लेकिन हैरत की बात यह है कि दोनों को पता था कि मॉल में ना तो नेट लगाया गया है और ना ही कभी जिला प्रशासन के किसी अधिकारी ने इस ओर आंख उठाकर देखी है। फिलहाल पुलिस ने इस पहलू पर भी मॉल के प्रबंधन के खिलाफ जांच शुरू कर दी है।

Related posts

सूबे को तकनीकि से जोड़ने की सीएम अखिलेश ने की पहल

piyush shukla

फतेहपुर जिले के मलवा में लक्ष्मी कॉटन मील के कर्मचारियों की माँगे पूरी न होने पर किया धरना

mahesh yadav

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश न्यायिक अधिकारियों से बोले, तय समय में अदालतों में करें कार्य  

bharatkhabar