featured पंजाब

ड्रग्स केस: सुप्रीम कोर्ट से बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत, गिरफ्तारी पर लगी रोक, आसानी से भर सकेंगे नामांकन

download 1 4 ड्रग्स केस: सुप्रीम कोर्ट से बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत, गिरफ्तारी पर लगी रोक, आसानी से भर सकेंगे नामांकन

पंजाब में विधानसभा चुनावों से पहले बिक्रम मजीठिया को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। SC ने सोमवार तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। गुरुवार को मजीठिया की जमानत खत्म हो गई थी। पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से मजीठिया को जमानत दी गई थी। जिसकी मियाद गुरुवार को खत्म हो गई।

ड्रग्स केस: सुप्रीम कोर्ट से बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत

पंजाब में विधानसभा चुनावों से पहले बिक्रम मजीठिया को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। SC ने सोमवार तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। गुरुवार को मजीठिया की जमानत खत्म हो गई थी। पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से मजीठिया को जमानत दी गई थी। जिसकी मियाद गुरुवार को खत्म हो गई। वहीं बिक्रम मजीठिया ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दाखिल की है। जिसके बाद अब सोमवार को बिक्रम मजीठिया की याचिका पर सुनवाई होगी तब तक के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मजीठिया की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। अब सोमवार को मजीठिया आसानी से नामांकन भर सकेंगे।

मजीठा के अलावा इस बार अमृतसर ईस्ट से लड़ेंगे चुनाव

विधानसभा चुनाव में इस बार मजीठिया दो सीटों से ताल ठोक रहे हैं। पंजाब में मजीठा के अलावा इस बार अमृतसर ईस्ट से कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू के खिलाफ भी चुनाव लड़ रहे हैं। बता दें कि ड्रग्स केस में मजीठिया पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इसमें कहा गया कि कनाडा के रहने वाले ड्रग तस्कर सतप्रीत सत्ता मजीठिया की अमृतसर और चंडीगढ़ स्थित सरकारी कोठी में भी ठहरते रहे। यहां तक कि मजीठिया ने उसे गाड़ी और गनमैन दे रखा था। मजीठिया चुनाव के लिए नशा तस्करों से फंड लेते रहे। इसके अलावा दबाव डालकर नशा दिलवाते रहे। नशा तस्करों के बीच समझौते करवाने का भी उन्हें आरोपी बनाया गया है। हालांकि अकाली दल इसे राजनीतिक बदला लेने की कार्रवाई करार देता रहा।

ड्रग्स मामले में मजीठिया पर गंभीर आरोप

वहीं बिक्रम मजीठिया को लेकर कांग्रेस लगातार अकाली पर हमलवार थी। वहीं दूसरी ओर बिक्रम मजीठिया ड्रग्स केस में मोहाली कोर्ट में याचिका दायर कर चुके थे। जिसके बाद कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था। इसके बाद मजीठिया ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। वहां से मजीठिया को कुछ दिनों के लिए राहत मिल गई। मजीठिया ने हाईकोर्ट से नामांकन भरने के लिए राहत मांगी थी हाईकोर्ट ने 3 दिन की राहत दे दी। अब मजीठिया ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दाखिल की है।

Related posts

अधिक मास 2023: साल 2023 में 13 महीने का होगा हिंदू कैलेंडर! 19 साल बाद बनेगा दुर्लभ संयोग

Rahul

नहीं रहीं शास्त्रीय संगीत की गायिका राधा विश्वनाथन, अस्पताल में हुआ निधन

Vijay Shrer

देश में अक्टूबर तक कोरोना की तीसरी लहर आना तय ? क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

pratiyush chaubey