January 24, 2022 3:22 pm
featured यूपी

जल्द हो सकता है राम मंदिर का निर्माण, जन्मभूमि तीर्थट्रस्ट ने की बैठक, पीएमओ को भेजा गया इन शुभ तारीखों का प्रस्ताव

ram tempel जल्द हो सकता है राम मंदिर का निर्माण, जन्मभूमि तीर्थट्रस्ट ने की बैठक, पीएमओ को भेजा गया इन शुभ तारीखों का प्रस्ताव

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बहुत जल्द राम मंदिर के भूमिपूजन का एलान होने वाला है। श्रीराम मंदिर तीर्थक्षेत्र ट्रंस्ट की बैठक में भूमीपूजन के लिए  3 और 5 अगस्त की तारीख तय  की गई है

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बहुत जल्द राम मंदिर के भूमिपूजन का एलान होने वाला है। श्रीराम मंदिर तीर्थक्षेत्र ट्रंस्ट की बैठक में भूमीपूजन के लिए  3 और 5 अगस्त की तारीख तय  की गई है और इसकी जानकारी पीएमओ को भेज दी गई है। इस मामले पर आखीरी फैसला पीएमओ का होगा कि वो कौन सी तारीख भूमिपूजन के लिए तय की जाएगी। इसके साथ ही मंदिर और उसके नक्शेम में बदलाव किया गया है। पहले राम मंदिर में 3 गुंबद बनाने का फैसला लिया गया था लेकिन अब बदलाव के बाद 5 गुंबद बनाने का फैसला लिया गया है।

वहीं सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से ही इसके निर्माण का संशय जारी था। लेकिन श्रीराम जन्मभूमी ट्रस्ट की बैठक में इसको लेकर अहम फैसला लिया गया है। भारत के करोड़ो लोगों की भावनाएं राम मंदिर से जुड़ी हुई है। लेकिन जब जन्मभूमि ट्रस्ट की बैठक के बाद भूमिपजन की बात सामने आई तो सबके मन में सवाल जरूर आया कि आखिर बनने वाला राम मदिर देखने में कैसा लगेगा।

बता दें कि राम मंदिर का जो प्रस्तावित मॉडल है उसके मुताबिक 2.75 लाख घन मीटर भू-भाग पर बनने वाला मंदिर दो मंजिल का होगा। मंदिर की लंबाई 270 फुट, चौड़ाई 140 फुट और ऊंचाई 128 फुट होगी। 330 बीम और दोनों मंजिल पर 106-106 यानी कुल 212 खंभों वाले मंदिर में पांच दरवाजे होंगे। ये दरवाजे मंदिर के पांच हिस्सों यानी गर्भगृह, कौली, रंग मंडप, नृत्य मंडप और सिंह द्वार में लगाए जाएंगे। मंदिर के मेन गेट का निर्माण मकराना के सफेद संगमरमर से किया जाएगा। वहीं गर्भगृह के ठीक ऊपर 16.3 फीट का प्रकोष्ठ बनाया जाएगा, जिस पर 65.3 फुट ऊंचे शिखर का निर्माण होगा।

https://www.bharatkhabar.com/photo-of-five-youths-missing-in-kashmir-for-several-days-goes-viral/

श्रीराम के जन्मभूमि तीर्थट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का कहना है कि राम मंदिर का निर्माण सोमपुरा ही करेंगा। सोमपुरा ने ही सोमनाथ मंदिर का निर्माण किया था। मंदिर बनाने में किसी भी तरह कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। समाज के 10 करोड़ परिवारों से पैसा जुटाया जाएगा। जिसके बाद मंदिर बनाया जाएगा। श्रीनगर जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की बैठक हुई है। जिसमें राममंदिर के निर्माण की तारीख तय हुई। ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपल का कहना है कि राम मंदिर के लिए पीएमओ के समक्ष 3 और 5 तारीख का प्रस्तादव दिया गया है। उनका कहना है कि राम मंदिर को निर्माण को लेकर सभी ने खुशी जाहिर की है। साथ ही सभी ने जमीन से मिले मंदिर के अवषेशों के दर्शन किए। हालांकि मिट्टी की ताकत कितनी है, इसकी रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। इसके बाद यह निर्णय होगा कि नींव कितनी रखी जाएगी।

Related posts

डार्क चॉकलेट खाने से होते है कई फायदे, जान ले ये बातें

mohini kushwaha

खराब खड़े ट्रक से टकराई कार, सड़क हादसे में तीन की मौत

Aditya Mishra

 योगी सरकार ने कई अहम प्रस्तावों पर लगाई मुहर

sushil kumar