कांग्रेस के लिए संजीवनी बनीं प्रियंका वाराणसी से नरेंद्र मोदी के समक्ष लड़ सकतीं हैं चुनाव

कांग्रेस के लिए संजीवनी बनीं प्रियंका वाराणसी से नरेंद्र मोदी के समक्ष लड़ सकतीं हैं चुनाव

वाराणसी। चुनावों का दौर जारी है और पार्टियों में रस्साकसी भी जारी है ऐसे में कल्पनाएं और हवाई बातों को भी दौर चलता रहता है लेकिन एक चर्चा वायरल हो रही है कि कांग्रेस मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी को चुनाव लड़ाने पर विचार कर रही है। प्रियंका को प्रत्याशी बनाए जाने के लिए कांग्रेस की रिसर्च टीम बनारस में डेरा डाल चुकी है और जातीय समीकरण साधा जा रहा है। खासकर ब्राह्मण, मुस्लिम को तो शुरू से पार्टी अपना मान रही है।
अब निषाद बिरादरी को और जोड़ा गया है। निषाद बिरादरी जोड़ने के पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि प्रियंका की गंगा यात्रा के दौरान इस बिरादरी को काफी लाभ हुआ था। यूपी की राजनीति पर करीब से नजर रखने वाले बता रहे हैं कि प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने के कयास ऐसे ही नहीं लगाए जा रहे हैं। उसके पीछे की प्रमुख वजह खुद वह हैं। वह जब से पूर्वांचल प्रभारी बनाई गई हैं तभी से वाराणसी से चुनाव लड़ने की चर्चा जोर पकड़ने लगी है।
बतौर पूर्वांचल प्रभारी जब पहली बार वह वाराणसी आईं तो पत्रकारों ने चुनाव लड़ने के बारे में पूछा भी था। यूं तो वे सवाल टालती रहीं, लेकिन एक बार अपने कार्यकर्ताओं से पूछा भी था कि क्या वाराणसी से चुनाव लड़ूं? बरहहाल, लोकसभा चुनाव की हवा जैसे-जैसे तेज होती जा रही है, वैसे-वैसे प्रियंका के लड़ने की संभावना को बल मिलता जा रहा है।