September 26, 2021 12:27 am
featured देश

आखिरकार प्रियंका गांधी को छोड़ना ही पड़ गया बंगला..

priyanka gandhi आखिरकार प्रियंका गांधी को छोड़ना ही पड़ गया बंगला..

कांग्रेस महासिचव प्रियंका गांधी ने दिल्ली में स्थित सरकारी हंगला खाली कर दिया है। इस बंगले में वो काफी समय से रह रहीं थी। मोदी सरकार की तरफ से दिये गये नोटिस के बाद प्रियंका गांधी को सरकारी बंगला छोड़ना पड़ा है।

priyanka 1 आखिरकार प्रियंका गांधी को छोड़ना ही पड़ गया बंगला..
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस महीने की शुरुआत में नोटिस मिलने के बाद बंगले से जुड़े सभी बची राशि का भुगतान कर दिया था। सरकारी आदेश में कहा गया था कि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप सुरक्षा हटाई जा चुकी है, इसलिए वह इस बंगले की हकदार नहीं रही हैं। प्रियंका से बंगला एक अगस्त तक खाली करने को कहा था।

प्रियंका गांधी के बाद इस बंगले को बीजेपी के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी को दिया गया है। अनिल बलूनी को बंगला दिए जाने के बाद प्रियंका गांधी ने उन्हें परिवार के साथ चाय पर भी बुलाया था। हालांकि, बलूनी ने अपनी सेहत का हवाला देते हुए मना कर दिया था।
खबर हा कि, अब वो लखनऊ में शिफ्ट हो सकती हैं। प्रियंका गांधी के बंगला खाली किये जाने के बाद काफी चर्चाएं हो रही हैं।

प्रियंका से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वह अभी कुछ दिन गुरुग्राम में रहेंगी और फिर मध्य दिल्ली इलाके के एक आवास में शिफ्ट हो जाएंगी। सूत्रों का कहना है कि प्रियंका ने मध्य दिल्ली में अपने रहने के लिए जो आवास तय किया है, उसकी रंगाई-पुताई और मरम्मत का काम चल रहा है।

तो वहीं खबर ये भी है कि, अब प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपने रिश्तेदार के घर ‘कौल निवास’ में शिफ्ट हो सकती हैं. 2022 में राज्य में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रियंका गांधी अपना समय यहीं बिताएंगी।

https://www.bharatkhabar.com/unlock-3-guideline-night-curfew-over-gym-open/

फिलहाल प्रियंका गांधी के बंगले में बीजेपी सासंद अनिल बलूनी रहेंगे। पहले खबर थी कि, वो तबियत की वजह से नहीं शिफ्ट हो रहे ैहं तो वहीं अब खबर है कि, वो प्रियंका के बंगले में रहेंगे।

Related posts

शहीद जवान की पत्नी बोलीं, पाकिस्तान से बदला ले सरकार

bharatkhabar

भारत की सीमाएं पूरी तरह से सुरक्षित- राजनाथ सिंह

Pradeep sharma

हैदराबाद बम धमाके में गिरफ्तार आरोपियों को कोर्ट ने किया बाइज्जत बरी

Rani Naqvi