Breaking News featured देश

वीआईपी कल्चर को तमाचा, नोट बदलवाने प्रधानमंत्री की मां पहुंची बैंक

Nara वीआईपी कल्चर को तमाचा, नोट बदलवाने प्रधानमंत्री की मां पहुंची बैंक

अहमदाबाद। नियम नियम होते हैं चाहे वो देश की जनता हो या देश के प्रधानमंत्री की मां। खबरें गुजरात के अहमदाबाद से आ रही हैं जहां पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां नोट बदलने के लिए बैंक पहुंची। करीब 96 वर्षीय हीराबा आज सुबह बैंक पहुंची जहां पर वो अपने बचत के 4500 रुपए को बदलवाने पहुंची। गांधीनगर के ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में पहुंच कर हीराबेन नोट बदलवाने पहुंचीं।
nara

किसी भी बेटे की शक्ति तब और दुगनी हो जाती है जब उसे उसके मां का समर्थन मिले। ऐसा ही कुछ आज देश के प्रधानमंत्री मादी को एहसास हो रहा होगा। प्रधानमंत्री मोदी के विमुद्रीकरण के निर्णय के बाद लोगों की लंबी लंगी कतारें बैकों के बाहर देखने को मिल रही हैं, ऐसे में बीआईपी कल्चर से परे देश के प्रधानमंत्री मोदी की मां हीरा बा अपने बचत के 4500 रुपए को बदलवाने के लिए गांधी नगर के ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स पहुंची। सारे निर्धारित नियमों का बखूबी पालन करते हुए उन्होेंने फॉर्म भरा और अपने पैसे को बदलवाया।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री की मां हीराबा की आयु करीब 97 वर्ष की है, बेटे पंकज मोदी के साथ हीराबा गांधी नगर के बैंक में पहुंची। 4500 के पुराने नोटों के बदले बैंक ने हीराबेन को 10-10 की दो गड्डियां, 500 और 2000 के नए नोट दिए। बताया जा रहा है कि अवस्था के चलते हीराबेन खड़े होने में असमर्थता महसूस कर रही थीं जिसके चलते उन्हें कुछ लोगों ने सहारा दिया और बैंक से पैसे निकलवाने में उनकी मदद की।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी की मां हीरबेन अपने सबसे छोटे बेटे पंकज मोदी के साथ गुजरात के गांधीनगर में रहती हैं, पंकज राज्य सूचना विभाग में नौकरी करते हैं। प्रधानमंत्री की मां होने के बावजूद हीरा बेन किसी भी वीआईपी सेवाओं का इस्तेमाल नहीं करती हैं, ऐसे ही आज जब वो बैंक पहुंचीं तो आम लोगों की तरह लाइन में खड़ी हुईं, बैंक से पैसे बदलवाने की सारी प्रक्रियाआें को पूरा करते हुए उन्होंने अपने 4500 रुपए बदलवाए। हीराबेन का इस तरह से 97 वर्ष की अवस्था में आम जन की तरह सारी प्रक्रियाआे को पूरा करना वीआईपी कल्चर को इस्तेमाल करने वाले लोगों पर जोरदार प्रहार है।

abhilash -अभिलाष श्रीवास्तव

 

Related posts

UP: जनसंख्या नियंत्रण विधेयक की क्‍या है जरूरत, जानिए इससे पहले क्‍या-क्‍या हुआ

Shailendra Singh

फेसबुक के जरिए होने वाली शादी का टूटना निश्चित: हाईकोर्ट

Breaking News

नीतीश का विपक्ष पर हमला,तुम पत्थर मारते रहों, मैं काम करता रहूंगा

Breaking News