यूपी सरकार के प्रयासों का प्रधानमंत्री ने लिया जायजा, संक्रमण नियंत्रण पर हुई बात

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति और संक्रमण की स्थिति से जुड़ी वार्ता की। इस दौरान उन्होंने सीएम योगी से राज्य सरकार द्वारा कोरोना नियंत्रण के प्रयासों की जानकारी भी ली।

सीएम योगी ने दी जानकारी

इस वार्ता में उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाओं और व्यवस्थाओं पर चर्चा हुई, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में बताया। सीएम ने कहा कि राज्य सरकार लगातार संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए पूरी तरह से काम कर रही है। कोविड-19 की रोकथाम के लिए आईसीयू बेड की उपलब्धता के साथ-साथ ऑक्सीजन की आपूर्ति भी करवाई जा रही है। बड़े स्तर पर ट्रैकिंग और टेस्टिंग पर भी जोर दिया जा रहा है, बाहर से आने वाले लोगों पर भी निगरानी रखी जा रही है।

कई निजी और सार्वजनिक प्रयोगशालाओं में हो रहा टेस्ट

टेस्टिंग के बारे में यूपी सरकार के प्रयासों पर सीएम योगी ने कहा कि लगातार इसको बेहतर करने पर जोर दिया जा रहा है। कुल 104 निजी प्रयोगशाला और 125 सार्वजनिक प्रयोगशालाओं में कोरोना की टेस्टिंग की जा रही है। एक आंकड़े के अनुसार 18 अप्रैल को निजी प्रयोगशालाओं में 19,000 से अधिक RT-PCR टेस्ट किए गए।

यूपी सरकार के प्रयासों का प्रधानमंत्री ने लिया जायजा, संक्रमण नियंत्रण पर हुई बात

rt-pcr

RT-PCR टेस्टिंग पर दिया जा रहा है जोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी देते हुए सीएम योगी ने बताया कि लगातार RT-PCR टेस्ट की संख्या बढ़ाई जा रही है। जिला प्रशासन सरकारी संस्थाओं द्वारा संकलित सैंपल जांच के लिए निजी प्रयोगशालाओं को भी भेज रहा है। समस्त जिलाधिकारियों को अपने जनपद में निजी प्रयोगशालाओं की rt-pcr टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए भी कहा गया है। इसके साथ ही प्रयोगशाला को पूरी तरीके से उपयोग में लाने पर भी जोर दिया जा रहा है।

अफवाहों का दौर भी जारी

सीएम योगी ने कहा कि कुछ ऐसे तत्व हैं, जो लगातार अफवाह फैला रहे हैं। उनका कहना है कि निजी प्रयोगशालाओं में कोरोना की जांच नहीं हो रही है, जबकि इसमें बिल्कुल सच्चाई नहीं है। वास्तविकता यह है कि अब तक 17 लाख टेस्ट निजी प्रयोगशालाओं में कर लिये गये हैं। इनमें से 8,84,000 RT-PCR टेस्ट शामिल हैं। इसके साथ ही सीएम ने बताया कि ₹500 प्रति सैंपल की दर से प्रयोगशालाओं को भुगतान करने की भी व्यवस्था की गई है।

रामनवमी के उल्‍लास पर कोरोना का ग्रहण, रामलला के दरबार में भक्तों के प्रवेश पर रोक

Previous article

मुख्तार अंसारी एंबुलेंस मामले में आया नया मोड़, दो लोगों की हुई गिरफ्तारी

Next article

Comments

Comments are closed.