September 27, 2021 2:12 am
featured देश

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई संजय कोठारी को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (CVC) पद की शपथ

संजय कोठारी 2 राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई संजय कोठारी को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (CVC) पद की शपथ

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हरियाणा कैडर के आईएएस अधिकारी रहे संजय कोठारी को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (CVC) पद की शपथ दिलाई। संजय कोठारी को शपथ दिलाने के दौरान कोरोना संबंधी गाइडलाइन का पूरा पालन किया गया। कार्यक्रम में आगंतुकों को बैठाने में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया। कार्यक्रम में लोगों की उपस्थिति कम थी और कुर्सियां दूर-दूर लगाई गई थीं।

इस कार्यक्रम में उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कुछ अन्य लोग शामिल रहे। कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, नव नियुक्त सेंट्रल विजिलेंस कमिश्नर संजय कोठारी समेत अन्य मेहमानों ने मास्क लगा रखा था।

संजय कोठारी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई संजय कोठारी को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (CVC) पद की शपथ

राष्ट्रपति के सचिव रह चुके हैं संजय कोठारी

संजय कोठारी इससे पहले राष्ट्रपति के सचिव के रूप में काम कर रहे थे। राष्ट्रपति भवन से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक राष्ट्रपति भवन में शनिवार सुबह एक कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संजय कोठारी को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। संजय कोठारी 1978 बैच के हरियाणा कैडर के आईएएस अधिकारी हैं, वे 2016 में रिटायर हो चुके हैं।

https://www.bharatkhabar.com/can-corona-in-the-country-open-amid-lockdown-salons-beauty-treatments-spa-shops-punya-salila-srivastava-gave-this-answer/

बता दें कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के प्रमुख का पद पिछले साल जून से खाली पड़ा था। इससे पहले के वी चौधरी का कार्यकाल पूरा होने के बाद ये अहम पद खाली पड़ा हुआ था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बनी एक उच्चस्तरीय कमेटी ने सीवीसी के लिए संजय कोठारी के नाम की सिफारिश की थी। तब कांग्रेस ने इस निर्णय का विरोध किया था। कांग्रेस ने इस फैसले को पलटने की मांग करते हुए कहा था कि ये फैसला अवैध, असंवैधानिक और कानून के खिलाफ है। केंद्रीय सतर्कता आयोग अधिकारियों के भ्रष्ट व्यवहार पर नजर रखने वाला एक स्वायत्त पद है।

Related posts

भारत के लिए कितनी बेहतर है फाइजर और मॉडर्ना वैक्सीन, जानें कोरोना के रोकथाम में कितनी कारगार

Trinath Mishra

165 दिनों में तैयार हुआ सावित्री नदी पर बना ये पुल

Srishti vishwakarma

गणतंत्र दिवस 2018: पहले गणतंत्र दिवस पर ऐसा था पहले पीएम नेहरू का भाषण

Rani Naqvi