election, ramnath kovind, meera kumar, president election, sansad bhawan, voting, counting vote, opposition meera kumar
president election

देश को अपना नया राष्ट्रपति मिल गया है। नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पंजाब से दो वोट तथा विपक्ष की साझा उम्मीदवार मीरा कुमार को पंजाब से एक वोट का नुकसान हुआ है। क्योंकि पंजाब से तीन विधायकों के वोटों को रद्द कर दिया गया है। 117 में से 116 विधायकों ने वोट दिए थे। इसमें एक वोट कम इसलिए हुआ था क्योंकि आप विधायक एचएस फूलका ने अपना वोट नहीं डाला था।

election, ramnath kovind, meera kumar, president election, sansad bhawan, voting, counting vote, opposition meera kumar

president election

ऐसे में अकाली विधायक परमिंदर ढींडसा ने दोनों ही प्रत्याशियों को वोट डाला था। ऐसे में पहले ही साफ हो गया था कि उनका वोट रद्द होना है। दूसरा वोट लोक इंसाफ पार्टी के सिमरजीत बैंस का है। उनके वोट डालने पर काफी विवाद हुआ था। लोक इंसाफ पार्टी के सिमरजीत बैंस ने नियमों का उल्लंघन किया था। ऐसे में राष्ट्रपति चुनाव में जो वोट डाले गए हैं उनमें ढींडसा के साथ दो अन्य वोट भी रद्द किए गए हैं। पंजाब में तीन विधायकों के वोटों को रद्द किया गया है। पंजाब से कांग्रेस विधायकों ने 95 विधायकों ने वोट दिया तथा एनडीए उम्मीदवार को 18 विधायकों ने वोट दिया था।

विधानसभा में विधायकों की संख्या के गणित के अनुसार मीरा कुमार को 96 वोट मिलने थे जबकि रामनाथ कोविंद को 20 वोट मिलने थे। ऐसे में कांग्रेस के 77 विधायक और आप को 19 विधायकों ने मीरा कुमार को वोट दिया था। ढींडसा का वोट रद्द होने के बाद रामनाथ कोविंद को 19 वोट पड़े हैं ऐसा इसलिए हैं क्योंकि लोक इंसाफ पार्टी रामनाथ कोविंद को अपना समर्थन दे रही थी। इस प्रकार देखा जाए तो कांग्रेस और आप विधायकों में एक वोट रद्द हुआ है।

मेनका गांधी से की नवीन पटनायक ने मुलाकात

Previous article

गोवा में राज्यसभा सीट के लिए हो रहा मतदान

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured