डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय इंजीनियर की मौत पर जताया दुख

वॉशिंगटन। दुनिया के सबसे ताकतवर देश के राष्ट्रपति की गद्दी संभालने के करीबन डेढ़ महीने बाद डोनाल्ड ट्रंप ने यूएस कांग्रेस को पहली बार संबोधित किया और उनके सामने कई अहम मुद्दों पर विचार व्यक्त किए। ट्रंप ने अपने अपने भाषण में ना केवल आर्थिल हालातों को सुधारने पर बल दिया बल्कि रक्षा क्षेत्र में खर्च को बढ़ाने की बात कही है।

इमीग्रेशन नियमों का हो सख्ती से पालन:-

ट्रंप ने राष्ट्रपति की कमान संभालने के बाद कई अहम फैसले लिए जिसमें सात मुस्लिम देशों के वीजा पर बैन लगाने से लेकर के इमीग्रेशन के नियमों को सख्त करना है। ट्रंप ने यूएस कांग्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि इमीग्रेशन नीति वही है जो नौकरी, सुरक्षा और कानून को ध्यान में रखते हुए लागू की जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इन नियमों का कड़ाई से पालन करने के लिए उनकी सैलरी में भी इजाफा किया जाएगा और बेरोजगारों की सहायता की जाएगी।

भारतीय इंजीनियर की मौत पर जताया दुख:-

कंसास में भारतीय इंजीनियर की मौत पर चुप्पी तोड़ते हुए ट्रंप ने कहा कि वह घृणा फैलाने वाली घटनाओं के हर स्वरुप की निंदा करते है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आईएसआईएस सभी धर्म के लोगों को मार रहा है। हम अपने सहयोगी राष्ट्रों के साथ मिलकर आईएस का खात्मा करने का प्रण लेते हैं। इसके अलावा ट्रंप ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्रालय को निर्देश दिया है कि वो आईएसआईएस को मिटाने के लिए प्लान तैयार करें।