अमावस्या मेला के लिए तैयारियां तेज, ज्यादा भीड़ की नहीं है इजाजत

चित्रकूट: चित्रकूट जिले में भगवान कामतानाथ के धाम में हर वर्ष अमावस्या मेला लगता है। इस बार कोरोना के चलते इसमें लोगों की संख्या पर आंशिक प्रतिबंध लगाने की रणनीति बना रहा है। इसके लिए साधु-संत और जिला प्रशासन ने मोर्चा संभाला है।

मध्यप्रदेश के इलाके में लगा लॉकडाउन

चित्रकूट का कुछ हिस्सा मध्यप्रदेश में भी आता है, वहां शिवराज सरकार ने पहले 60 घंटे का प्रतिबंध लगा रखा है। सतना जिला प्रशासन की तरफ से अमावस्या मेला में भारी भीड़ की संभावना को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। सोमवार को चैत्र अमावस्या है, जिसे देखते हुए यह तैयारी की जा रही है।

यूपी में है भीड़ रोकने की योजना

उत्तर प्रदेश में प्रतिबंध नहीं लगा है, लेकिन भारी भीड़ की संभावनाओं पर लगाम लगाने की कोशिश जारी है। इसके जिला प्रशासन के साथ-साथ साधुओं और संतो से भी सहयोग मांगा जा रहा है। लोगों से अमावस्या में शामिल न होने की अपील की जा रही है। मेला क्षेत्र में सभी सुविधाओं और सुरक्षा व्यवस्थाओं को बेहतर करने पर जोर दिया जा रहा है।

अमावस्या मेला के लिए तैयारियां तेज, ज्यादा भीड़ की नहीं है इजाजत

भगवान कामतानाथ

चित्रकूट के सीतापुर कस्बा इलाके में संक्रमण के चलते कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। यह इलाका प्रशासन के लिए समस्या खड़ी कर सकता है। पिछले वर्ष में भी लॉकडाउन के दौरान मेला पर प्रतिबंध लगाया गया था, इस वर्ष अमावस्या मेला 12 अप्रैल को पड़ रहा है। संतों के साथ शुक्रवार को बैठक भी होनी है, जिसमें कोरोना के खतरों पर भी बातचीत की जाएगी।

84 कोसी की होती है परिक्रमा

भगवान कामतानाथ की पूजा के साथ-साथ भक्त 84 कोसी परिक्रमा भी करते हैं, जिसमें मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश मे पड़ने वाले दोनों जगहों के तीर्थ-स्थल शामिल होते हैं। यहां भारी संख्या में श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगता है, कोरोना के चलते इस बार स्थिति पर नियंत्रण रखने की कोशिश की जा रही है।

तेजी से बढ़ रहा कोरोना का खतरा

शुक्रवार को प्रदेश में 9695 कोरना केस सामने आए, वहीं राजधानी लखनऊ में यह संख्या 2934  के करीब रही। आंकड़ा हर दिन लगातार बढ़ता जा रहा है। रोकथाम के लिए कई निर्देश भी जारी किए गए हैं, ऑफिस में 50 प्रतिशत लोगों की मौजूदगी और नाइट कर्फ्यू को प्रभावी बनाने पर जोर दिया जा रहा है।

पंचायत चुनाव 2021: सेक्टर मजिस्ट्रेट ने सौंपी बूथ निरीक्षण की रिपोर्ट, खामियों को दूर करने के निर्देश

Previous article

बंगाल चुनाव: चौथे चरण की वोटिंग के दौरान बवाल, फायरिंग में 4 की मौत

Next article

Comments

Comments are closed.