featured दुनिया

पेरिस में एक इमारत में शक्तिशाली विस्फोट में 2 दमकल कर्मी और स्पेन की एक महिला की मौत

paris पेरिस में एक इमारत में शक्तिशाली विस्फोट में 2 दमकल कर्मी और स्पेन की एक महिला की मौत

नई दिल्ली। पेरिस में शनिवार को एक इमारत में शक्तिशाली विस्फोट में 2 दमकल कर्मी और स्पेन की एक महिला की मौत हो गई, जबकि 47 लोग घायल हो गए। धमाके की वजह से आस-पास की इमारतों भी नुकसान पहुंचा है। फ्रांस के गृहमंत्री क्रिस्टोफ कास्ताने ने बताया कि धमाके के बाद लगी आग पर काबू पाने और इलाके में रहने वाले लोगों को बाहर निकालने के लिए करीब 200 दमकल कर्मियों को भेजा गया।

paris पेरिस में एक इमारत में शक्तिशाली विस्फोट में 2 दमकल कर्मी और स्पेन की एक महिला की मौत

 

बता दें कि यह धमाका ऐसे समय में हुआ है, जब फ्रांस की सरकार के खिलाफ शहर में ‘येलो वेस्ट प्रदर्शन’ हो रहे हैं। हाल ही में येलो वेस्ट प्रदर्शनों के दौरान पेरिस और अन्य शहरों में हिंसा और तोड़फोड़ की घटनाएं देखने को मिली थीं। फ्रांस के गृहमंत्री कास्ताने ने कहा कि यह धमाका ऐसे समय में हुआ, जब लोग सड़क पर थे और दमकलकर्मी घटनास्थल के अंदर’ इलाके में करीब 100 पुलिस अधिकारियों ने कई सड़कों को बंद कर दिया था। इलाके में म्युजी ग्रेवी वैक्स म्यूजियम और मशहूर रु दे मार्तियर्स सहित कई रेस्त्रां और पर्यटन स्थल हैं।

वहीं पुलिस ने गार्निये ओपेरा हाउस के सामने की सड़क को भी बंद कर दिया। क्योंकि पीड़ितों को निकालने के लिए ऐतिहासिक इमारत के सामने आपातकालीन हेलिकॉप्टर सेवा को उतारा जाना था। पेरिस के अभियोजक कार्यालय ने बताया कि धमाके में 2 दमकल कर्मियों और स्पेन की एक महिला के मारे जाने के अलावा 47 लोग घायल हुए हैं। जिनमें 10 की हालत गंभीर है। जिस इमारत के निचले तल पर धमाका हुआ, वहां बेकरी चलती थी। धमाका रु दे त्रेवाइस मार्ग स्थित इमारत में स्थानीय समयानुसार सुबह नौ बजे (अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह आठ बजे) के बाद हुआ।

साथ ही पेरिस दमकल सेवा के कमांडर एरिक मूलिन ने बताया कि धमाका काफी जोरदार था। समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक बचावकर्मी अब भी पीड़ितों की तलाश में जुटे हैं। रु दे त्रेवाइस के पास रहने वाली क्लेयर सालावुआर्द ने बताया, ‘मैं सोई हुई थी। लेकिन धमाके की आवाज सुनकर मैं जाग गई।’घटनास्थल पर मौजूद पेरिस के अभियोजक रेमी हीत्ज ने बताया कि दमकल कर्मियों ने धमाके की वजह गैस लीक होना बताया है।‘सबसे पहले गैस लीक होने के बाद दमकलकर्मी वहां पहुंचे, जिसके बाद धमाका हुआ।’ धमाका इतना जोरदार था कि कारें तक तक पलट गईं। कई सैलानियों के हाथ में सामान था, क्योंकि उन्हें इलाके में पास के कई होटलों से सुरक्षित निकाला गया था। यह इलाका खरीदारी के शौकीनों के लिए पसंदीदा स्थल भी है।

Related posts

जयंती पर विशेष: देश को वैश्विक पहचान देने वाले इसरो के संस्थापक विक्रम साराभाई को नमन

Trinath Mishra

चरमपंथी संगठनों की सूची में दाऊद की डी कंपनी

bharatkhabar

अमेरिका और दक्षिण कोरिया एकजुट रहने पर सहमत

Rani Naqvi