September 23, 2021 12:00 am
featured यूपी

विकास दुबे को खोज रही पुलिस को मिला अब तक का सबसे बड़ा सुराग

vikas dubay विकास दुबे को खोज रही पुलिस को मिला अब तक का सबसे बड़ा सुराग

कानपुर एनकाउंटर केस में हिस्‍ट्रीशीटर विकास दुबे को खोज रही पुलिस को अब तक सबसे बड़ा सुराग मिला है।

नई दिल्‍ली: कानपुर एनकाउंटर केस में हिस्‍ट्रीशीटर विकास दुबे को खोज रही पुलिस को अब तक सबसे बड़ा सुराग मिला है उसको घटना के बाद से पहली बार हरियाणा में फरीदाबाद के बड़खल चौक पर स्थित श्री सासाराम होटल में देखा गया है। होटल के मालिक के मुताबिक ये आदमी साढ़े बारह बजे श्री सासाराम गेस्ट हाउस में अपने एक साथी के साथ आया था। उसने अपना नाम अंकुर बताया था। थोड़ी देर के लिए रूम लेने की बात की थी लेकिन पहचान पत्र मांगने पर उसने अपना पेन कार्ड दिया था जो साफ नहीं था। कोई और पहचान पत्र दिखाने को जब बोला गया तो वो अपने साथी के साथ वापस चला गया।

बता दें कि उसके दो घंटे बाद पुलिस पहुंची। हरियाणा पुलिस की क्राइम ब्रांच गई थी। पुलिस को कुछ नहीं मिला। पुलिस होटल के सीसीटीवी का डीवीआर अपने साथ लेकर गई है। विकास दुबे या उसके किसी साथी को पुलिस अपने साथ नहीं ले गई है। यूपी पुलिस इस मामले में हरियाणा पुलिस के संपर्क में है और हरियाणा में तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है। इसके साथ ही यूपी एसटीएफ टीम की निगाहें मध्य प्रदेश और राजस्थान पर भी टिकी हैं।

https://www.bharatkhabar.com/niece-of-us-president-donald-trump-claims-in-memoir/

कानपुर के बिकरु गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद सवालों के घेरे में आए चौबेपुर थाने में तैनात सभी 68 पुलिसकर्मियों को मंगलवार रात लाइन हाजिर कर दिया गया। इसके अलावा आरोपों से घिरे पुलिस उपमहानिरीक्षक को भी स्थानांतरित कर दिया गया है। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि चौबेपुर थाने में तैनात उपनिरीक्षक, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल समेत 68 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करने का यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि बिकरू कांड के बाद उनकी कर्तव्यनिष्ठा संदेह के घेरे में आ गई थी।

उन्होंने बताया कि गैंगस्टर विकास दुबे को बचाने में चौबेपुर थाने के निरीक्षक विनय तिवारी तथा अन्य पुलिसकर्मियों की संलिप्तता के आरोप लगने के बाद इसकी जांच के आदेश दिए गए थे। शुरुआती जांच में यह पाया गया कि थाने में तैनात कई पुलिस उपनिरीक्षक, हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की हिमायत कर रहे थे। प्रवक्ता ने बताया कि थाने में तैनात सभी 68 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है और उनके खिलाफ विस्तृत जांच की जा रही है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Related posts

सरकारी नियमों की अनदेखी करने से अधिकारियों को नहीं है परहेज

Rahul srivastava

जानिए: क्यों लागू हुआ था आपातकाल, क्यू लिया इंदिरा ने ऐसा फैसला

Rani Naqvi

पाक के मुख्य न्यायाधीश बोले- महिलाओं की स्कर्ट जितना छोटा हो भाषण

Breaking News