featured यूपी राज्य हेल्थ

पुलिस कमिश्नर व डीएम ने दिया आदेश, लखनऊ में सार्वजनिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध

untitled 30 पुलिस कमिश्नर व डीएम ने दिया आदेश, लखनऊ में सार्वजनिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध
लखनऊ:कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर के तमाम प्रयास कर रहे हैं। इसी कड़ी में अब जिला प्रशासन व पुलिस विभाग की तरफ से भी तैयारी की गई है। डीएम अभिषेक प्रकाश पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने पहले की तरह सार्वजनिक कार्यक्रम  अगर पूछना प्रतिबंध लगा दिया है।
कोरोना संक्रमित मरीजों की वृद्धि के चलते दिया आदेश
लखनऊ में बीते कई दिनों से कोरोना संक्रमित मरीजों का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है। जो कि एक बड़ी चिंता का विषय है। ऐसे में कोरोना चेन को जल्द से जल्द तोड़ने का प्रयास हर स्तर पर किया जा रहा है। इसी कड़ी में अब राजधानी लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर  ने यह आदेश दिया है।
जिसमें कहा गया है कि अध्यादेश 2020 महामारी अधिनियम के प्रदत्त शक्तियों के अनुप्रयोग में अग्रिम आदेशों तक प्रस्तावित समस्त प्रकार के रेन डांस, पार्टी  आयोजन तथा संघ प्रकृति के आयोजन पार्टी प्रतिबंधित किए जाते हैं। पूर्व में ऐसे किसी भी पार्टी के आयोजन हेतु निर्गत समस्त प्रकार की अनुमति तत्काल प्रभाव से निरस्त की जाती है।
 इसके अतिरिक्त अग्रिम आदेशों तक जनपद लखनऊ में किसी भी आयोजन जुलूस अथवा कार्यक्रम में जिसमें जन समुदाय का एकत्र होना प्रस्तावित अथवा संभावित हो की अनुमति सक्षम स्तर से इस आशय का शपथ पत्र प्रस्तुत कर प्राप्त करने आवश्यक होगी कि आयोजक द्वारा निर्गत समस्त आदेशों का पालन किया जाएगा तथा आयोजक द्वारा सामाजिक दूरी सभी के लिए मास्क तथा सैनिटाइजर की व्यवस्था राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 में निहित प्रावधानों के अंतर्गत की जाएगी।
इसके अतिरिक्त सभी कार्यालय प्रतिष्ठान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन पूर्व की भांति करेंगे। जिससे कोविड-19 प्रकरणों पर प्रभावी रोकथाम लगाई जा सके और यह सभी आदेश का अनुपालन कड़ाई से सुनिश्चित किया जाए तथा इनका उल्लंघन महामारी अधिनियम के अंतर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आएगा।
प्रतिष्ठानों व कार्यस्थलों पर आने वाले आगंतुको का स्पष्ट विवरण रखना जरूरी
प्रतिष्ठान और कार्यस्थल पर आने वाले बाहरी विजिटर्स व ग्राहकों का विवरण रखने की व्यवस्था करने का आदेश दिया गया है। इस आदेश में कहा गया है कि यदि कोई भी कार्य स्थल या प्रतिष्ठान खुले हुए हैं और वहां पर लोग बाहर से आ रहे हैं। तो उनकी पूरी जानकारी एक रजिस्टर पर लिखी जाए। जिससे कि यदि कभी कोई कोरोना मरीज सामने आता है। तो तो रजिस्टर के माध्यम से उसके संपर्क में आए हुए लोगों को चिन्हित कर समय रहते उचित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं दी जा सके।

Related posts

आलिया-रणबीर के रिश्ते को लेकर पूजा भट्ट ने कही ये बात

mahima bhatnagar

लाइफ साइंसेज पार्क विकसित करने के लिए वैश्विक खिलाड़ियों को किया आमंत्रित

Trinath Mishra

उत्तराखंड सरकार का मकसद 2020 तक राज्य की सभी योजना में डी0बी0टी0 लागू करना

Rani Naqvi