featured यूपी

कानपुर: फर्जी स्टांप मामले में पुलिस ने दो शातिरों को किया गिरफ्तार

कानपुर: फर्जी स्टांप मामले में पुलिस ने दो शातिरों को किया गिरफ्तार

कानपुर: कानपुर के बर्रा थानाक्षेत्र में पुलिस को सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने फर्जी स्टांप मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की पूछताछ में शातिरों से कई रहस्य उजागर हुए हैं। पुलिस अब इस केस के मुख्य सप्लायर की तलाश में लग गई है।

दो लाख 70 हजार के मिले जाली स्टांप

बता दें कि कानपुर पुलिस ने दो स्टांप विक्रेताओं को गिरफ्तार करके उनसे दो लाख 70 हजार रुपये के जाली स्टांप बरामद किये हैं। पूरे मामले के छानबीन में पुलिस और सर्विलांस की टीम लग गई है। पुलिस ने गिरफ्त में आए शातिरों की मदद से एक दर्जन नंबरों को निकाला है। शातिरों के कनेक्शन वाराणसी और मुगलसराय से भी मिले हैं। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि ये आरोपी 1950 तक के स्टांप और नोटरी के टिकट मुहैया कराते थे।

स्टांप को ब्लीच से करते थे रिसाइकिल

जानकारी के अनुसार शातिर अपराधी चंदन कुमार गुप्ता जौनपुर का रहने वाला है, वहीं उसकी महिला साथी सरिता सरोज बिहार की रहने वाली है। पूछताछ में दोनों ने बताया कि उनके स्टांप लखनऊ में और बदायूं कोषागार में इस्तेमाल हो चुके हैं। शातिरों ने बताया कि नोटरी के टिकट एक बार उपयोग करने के बाद धुलकर तैयार किये गए हैं। इन्हें वो लोग स्टांप वेंडरों से संपर्क करके 60 प्रतिशत कीमत पर खरीद कर बेच देते हैं। उन्होंने बताया कि ब्लीच से उन्हें फिर रिसाइकिल कर लिया जाता था।

शातिरों के फोन से मिले संदिग्ध नंबर

मामले की जानकारी देते हुए एसपी दीपक भूकर ने बताया कि दोनों आरोपितों के फोन नंबरों की छानबीन में कई संदिग्ध नंबर मिले हैं। ये संदिग्ध नंबर जाली स्टांप के मुख्य सप्लायर बताए जा रहे हैं। पकड़े गए दोनों शातिरों के वाराणसी और मुगलसराय से भी कनेक्शन मिले हैं। उन्होंने कहा कि संदिग्ध नंबरों को सर्विलांस पर लगा दिया है। जल्द ही मुख्य आरोपी भी पकड़ लिए जाएंगे।

ट्रेजरी विभाग के कर्मियों से थी सेटिंग

मुख्य आरोपियों ने ट्रेजरी विभाग के कर्मियों से सेंटिंग कर रखी थी। ये लो पुराने स्टांप और टिकट का ब्यौरा ट्रेजरी के रजिस्टर पर अंकित करा देते थे। अगर कोई आरटीआई के माध्यम से स्टांप और टिकट की सूचना मांगता था तो मिलीभगत होने से यहां भी मामला नहीं फंसता था और ये शातिर बच जाते थे।

वहीं बर्रा के थाना प्रभारी हरमीत सिंह ने बताया कि प्रकरण बेहद गंभीर है। इस मामले में ट्रैजरी कर्मियों के भी कनेक्शन पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ट्रेजरी कर्मियों पर नजर रखे हैं और अगर कहीं भी कर्मियों की संलिप्तता मिली तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।

Related posts

Coronavirus India Update: 5 लाख के पार कोरोना से मौत का आंकड़ा, बीते 24 घंटे में सामने आए 1 लाख नए केस

Neetu Rajbhar

71वें गणतंत्र दिवस पर CAA विरोध-प्रदर्शन भी आजादी के रंग में रंगा, महिलाओं ने तिरंगे कलर के हिजाब में लगाए आजादी के नारे

Rani Naqvi

ऐतिहासिक धरोहरों को समेटे हुए है टाईगर रिजर्व जोन का किला

Rahul srivastava