January 29, 2022 3:20 pm
Breaking News यूपी

वर्चुअल संवाद में प्रधानमंत्री ने कोरोना को बताया बहरूपिया, 54 जिलों के शीर्ष अधिकारियों से वार्ता

modi on teeka utsav वर्चुअल संवाद में प्रधानमंत्री ने कोरोना को बताया बहरूपिया, 54 जिलों के शीर्ष अधिकारियों से वार्ता

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश सहित देश के 54 जिलों के अधिकारियों से बातचीत की। इस वर्चुअल संवाद कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कोरोना के प्रति उठाए जा रहे कदम और अपडेट को लेकर था। इस दौरान अधिकारियों की मेहनत और उनके प्रयासों की सराहना भी की गई।

पीएम ने बढ़ाया अधिकारियों का हौसला

वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिला अधिकारियों और अन्य लोगों से वार्ता की। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सरकारी आवास से जुड़े रहे। प्रधानमंत्री ने हौसला अफजाई करते हुए कहा कि इस विषम परिस्थिति में भी सभी अधिकारी मैदान पर डटे हुए हैं और उनके प्रयासों से ही लगातार स्थिति सुधर रही है।

कोरोना वायरस है बहरूपिया

अलग-अलग दो लहरों में कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में देखा जा चुका है। पहली लहर में जहां स्थिति इतनी खराब नहीं थी, वहीं दूसरी लहर में काफी तबाही मची। स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर आम आदमी की जिंदगी तक बदहाल हो गई। इसी पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि यह वायरस बहरूपिया जैसा है, जो लगातार अपना रूप बदलकर समस्या पैदा कर रहा है। इससे निपटने के लिए सभी स्तर पर बेहतर और इनोवेटिव होने की आवश्यकता है।

तीसरी लहर को रोकना बड़ी प्राथमिकता

प्रधानमंत्री ने चर्चा के दौरान तीसरी लहर का भी जिक्र किया और इससे निपटने के लिए जिलाधिकारियों से सुझाव भी मांगे। ग्रामीण क्षेत्रों में फैले संक्रमण को रोकने के इंतजाम पर भी डीएम से चर्चा की गई। प्रधानमंत्री ने अपने सुझाव में कहा कि बेहतर तालमेल और सही रणनीति से हम इस आपदा से बाहर निकल सकते हैं। जिले को राज्य से बेहतर तालमेल बिठाने की आवश्यकता है। स्थानीय अनुभव का प्रयोग करते हुए जमीन पर सही रणनीति और एक्शन समाधान की तरफ ले जाएंगे।

वैक्सीन की बर्बादी पर लगे लगाम

वर्चुअल संवाद में प्रधानमंत्री ने कहा कि वैक्सीन लगाते समय इसकी बर्बादी को रोकने पर भी जोर देना प्राथमिकता है। आम लोगों के लिए वैक्सीन ही बचाव का एकमात्र साधन है। ऐसे में भारी जनसंख्या को देखते हुए इसकी बर्बादी बिल्कुल रुकनी चाहिए। टीकाकरण अभियान में सही रणनीति के तहत वेस्टेज को रोका जा सकता है।

प्रधानमंत्री ने वैक्सीन आपूर्ति को लेकर भी चर्चा की। गुरुवार के वर्चुअल संवाद में लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के कई जिलों के अधिकारी मौजूद रहे। जिनमें डीएम अभिषेक प्रकाश, कौशल राज शर्मा, मेरठ के डीएम के बालाजी, बरेली के जिला अधिकारी नीतीश कुमार, गौतम बुद्ध नगर के डीएम सुहास ए वाई, मुरादाबाद के जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Related posts

क्या कुमारस्वामी किसानों से किया वादा पूरा करेंगे ?

Breaking News

बिकरू कांड: गैंगस्‍टर विकास दुबे के बहनोई को लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

Shailendra Singh

सूरत अग्निकाण्ड: कोचिंग सेंटर मालिक गिरफ्तार, तीन अन्य पर मुकदमा हुआ दर्ज

bharatkhabar