0c6c4ded c817 4cb1 baf0 034f2be01b20 पीएम मोदी ने मुबंई हमले में शहीद हुए लोगों को दी श्रद्धांजलि, वन नेशन-वन इलेक्शन की बात कही
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आज संविधान दिवस के मौके पर देश के अलग-अलग हिस्सों में जश्न मनाया जा रहा है। इसी के साथ आज की तारीख देश पर सबसे बड़े आतंकी हमले के साथ भी जुड़ी हुई है। पाकिस्तान से आए आतंकियों ने मुंबई पर धावा बोल दिया था। जिसमें कई देशों के लोग मारे गए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को संविधान दिवस के मौके पर केवड़िया में जारी एक कार्यक्रम को संबोधित किया। पीएम मोदी ने इस दौरान मुंबई हमले में शहीद हुए लोगों को श्रद्धांजलि दी और कहा कि हम वो जख्म कभी नहीं भूल सकते हैं। इसी के साथ पीएम मोदी ने एक बार फिर देश का ध्यान वन नेशन-वन इलेक्शन की ओर खींचा और इसे वक्त की जरूरत बताया।

लोगों को KYC पर बल देना चाहिए- पीएम मोदी

बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि वन नेशन, वन इलेक्शन आज भारत की जरूरत है। देश में हर कुछ महीने में कहीं ना कहीं चुनाव हो रहे होते हैं, ऐसे में इसपर मंथन शुरू होना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि अब हमें पूरी तरह से डिजिटलकरण की ओर बढ़ना चाहिए और कागज के इस्तेमाल को बंद करना चाहिए। आजादी के 75 साल को देखते हुए हमें खुद टारगेट तय करना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि संविधान की रक्षा में न्यायपालिका की काफी बड़ी भूमिका है। पीएम बोले कि 70 के दशक में इसे भंग करने की कोशिश की गई, लेकिन संविधान ने ही इसका जवाब दिया। इमरजेंसी के दौर के बाद सिस्टम मजबूत भी होता गया, उससे हमें काफी कुछ सीखने को मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हर नागरिक को संविधान को समझना चाहिए और उसके हिसाब से चलना चाहिए। लोगों को KYC यानी Know your Constitution पर बल देना चाहिए। विधानसभा की चर्चाओं के दौरान जनभागेदारी कैसे बढ़े, इसपर विचार करना चाहिए। जब सदन में किसी विशेष विषय पर चर्चा हो तो उनसे जुड़े लोगों को बुलाना चाहिए।

सरदार पटेल के स्टैच्यू से लोगों को मिला रोजगार- पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश संविधान दिवस मना रहा है और लोकतंत्र के पर्व के जश्न में डूबा है। पीएम मोदी ने कहा कि हर किसी को राष्ट्रहित को ध्यान रखते हुए काम करना चाहिए। अगर ऐसे मुद्दों पर राजनीति होती है तो उसका नुकसान उठाना पड़ता है। पीएम ने कहा कि सरदार सरोवर डैम भी इस राजनीति का शिकार होता रहा है. जब पानी का काम हुआ तो राजस्थान से भैरो सिंह-जसवंत सिंह उनसे मिलने गुजरात गए और बधाई दी। पीएम मोदी ने कहा कि जिन लोगों के कारण डैम का काम बरसों तक रुका रहा, उसकी लागत करोड़ों रुपये बढ़ गई। उनके चेहरे पर आज कोई भी शिकन नहीं है और ना ही कोई पछतावा है। सरदार पटेल कभी जनसंघ या भाजपा के सदस्य नहीं थे, लेकिन वहां कोई राजनीतिक छुआछूत नहीं है और आज स्टैच्यू खड़ा है। इसका फायदा आसपास के शहर को मिला है, लोगों को रोजगार मिला है।

 

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

पुणेः PM मोदी कोरोना वैक्सीन रिव्यू के लिए सीरम इंस्टीट्यूट का करेंगे दौरा

Previous article

‘कुली नंबर ​वन’ का नया पोस्टर हुआ रीलीज, जानें किस ओटीटी पर रीलीज होगी फिल्म

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.