ff0364a0 a4a1 4ebe 8bdb bf157ee3ff96 वाराणसी से किसान आंदोलन की तरफ इशारा करते हुए बोले पीएम मोदी, कृषि कानून को लेकर कुछ लोग फैला रहे भ्रम

नई दिल्ली। किसानों द्वारा ​देश की राजधानी दिल्ली में कृषि कानून का ​जमकर विरोध किया जा रहा है। इसी बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी पहुंचे। जहां उन्होंने खंडूरी गांव में वाराणसी-प्रयागराज 6-लेन हाइवे का लोकार्पण करने के बाद जनसभा को संबोधित किया। इसके साथ ही पीएम ने दिल्ली में जारी किसान आंदोलन के बीच नए कृषि कानूनों पर स्थिति स्पष्ट की। किसान आंदोलन की तरफ इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि नए कृषि सुधारों से किसानों को नए विकल्प मिले हैं, लेकिन कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं। जिन्होंने किसानों के साथ छल किया है, वे ही अब किसानों में भ्रम फैला रहे हैं। नया कानून किसानों को विकल्प देने वाला है। पीएम ने कहा कि सरकारें कानून-कायदे बनाती हैं, कुछ सवाल स्वाभाविक है यह लोकतंत्र का हिस्सा है। लेकिन पिछले कुछ समय से अलग ही ट्रेंड देखने को मिल रहा है।

पुराने सिस्टम से भी लेनदेन कर सकेंगे किसान- पीएम

बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि एतिहासिक कृषि सुधार को लेकर यही खेल खेला जा रहा है। ये वही लोग हैं जिन्होंने किसानों के साथ छल किया था। एमएसपी होता था। मगर खरीद कम होती थी। किसानों के साथ छल होता था। किसानों के नाम बड़े बड़े कर्ज माफी होती थी। मगर पहुंचती नहीं थी। पीएम मोदी ने कहा कि नए कृषि सुधारों से किसानों के लिए नए रास्ते मिले हैं। इन कानूनों में पुराने सिस्टम पर रोक लगाने का कोई प्रावधान नहीं है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले मंडी के बाहर हुए लेनदेन ही गैरकानूनी थे। ऐसे में छोटे किसानों के साथ धोखा होता था, विवाद होता था। अब छोटा किसान भी, मंडी से बाहर हुए हर सौदे को लेकर कानूनी एक्शन के लिए कदम उठा सकता है। किसान को अब नए विकल्प भी मिले हैं और धोखे से कानूनी संरक्षण भी मिला है। इस​के साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि अगर कोई पुराने सिस्टम से लेनदेन को उचित समझता है तो इस कानून में कोई रोक नहीं लगाई है। नए कृषि सुधारों से नई विकल्प और नए कानूनी और संरक्षण दिए गए हैं।

किसानों को मजबूत करने का प्रयास जारी है- पीएम मोदी

वाराणसी में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि किसान को आधुनिक सुविधाएं देना, छोटे किसानों को संगठित करके उन्हें ताकतवर बनाना और किसानों को मजबूत करने का प्रयास जारी है। फसल बीमा हो या सिंचाई, बीज हो अथवा बाजार, मार्केट हर स्तर पर काम किया गया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के कृषि प्रोडक्ट पूरी दुनिया में मशहूर हैं।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

दिल्ली में सरकार की तरफ से फ्री होगा RT-PCR टेस्ट्स, प्राइवेट लैव में देना हो 800 रुपये चार्ज

Previous article

आज है विश्व एड्स दिवस, जानें कब आया था इस बीमारी का पहला मरीज और भी रोचक तथ्य

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.