pm modi पीएम मोदी ने किसानों के लिये जारी की बुकलेट, कहा- इसे पढ़ें और कृषि कानूनों को समझें

किसानों का आंदोलन आज 24वें दिन में प्रवेश कर चुका है. जैसे-जैसे दिन आगे बढ़ रहे हैं ठंड भी बढ़ती जा रही है और किसानों का संघर्ष और भी तेज होता जा रहा है. 23 दिनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं और केंद्र सरकार द्वारा लागू किया गये तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग कर रहे हैं.

आंदोलन पर डटे किसान
जहां किसान कानूनों के रद्द करने की बात पर अड़े हैं. वहीं केंद्र सरकार भी कानूनों को रद्द न करने और किसानों के मनाने की भरपूर कोशिशें कर रही है. सरकार का बार-बार ये कहना है कि कृषि कानून किसानों के हक में हैं.

सरकार का प्रयास जारी
किसान एमएसपी को लेकर डरा हुआ है. वहीं सरकार का कहना है कि इन कानूनों से किसान को बड़ा बाजार मिलेगा और मिडल मैन की व्यव्स्था खत्म होगी और किसानों की आय दोगुनी होगी. इसी को लेकर बीजेपी की ओर से किसानों की समझाने की भी कोशिश की जा रही है. सरकार और किसानों के बीच में कई दौर की बैठकें हो चुकी हैं लेकिन वो बेनतीजा रही हैं. इसलिये अब बीजेपी किसानों के समझाने के लिये जागरुकता अभियान भी चला रही है. बीजेपी के तमाम नेता, केंद्रीय मंत्री कृषि कानूनों के फायदे किसानों को बताने में लगे हैं. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कृषि कानूनों को लेकर किसानों को भरोसा दिला रहे हैं कि ये उनके लिये सही है.

पीएम मोदी ने किसानों के लिये किया ट्वीट
इसी कड़ी में पीएम मोदी ने ट्वीट किया है. पीएम मोदी ने ट्वीट में लिखा- ग्राफिक्स और पुस्तिकाओं सहित बहुत सारी सामग्री है जो इस बारे में विस्तार से बताती हैं कि हाल के कृषि सुधार हमारे किसानों की मदद कैसे करते हैं. ये NaMo ऐप स्वयंसेवी मॉड्यूल की आपकी आवाज और डाउनलोड वर्गों पर पाया जा सकता है. पढ़ें और व्यापक रूप से साझा करें.

इसी के साथ ही पीएम मोदी ने श्री गुरु तेग बहादुर के शहीदी दिवस पर भी ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- श्री गुरु तेघ बहादुर जी के जीवन में साहस और करुणा का प्रतीक है. उनके शहीदी दिवस पर मैं महान श्री गुरु तेघ बहादुर जी को नमन करता हूं और एक जस्ट और समावेशी समाज के लिए उनके विजन को याद करता हूं.

शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों ने किया स्वतंत्र देव सिंह के घर के बाहर प्रदर्शन, अधिकारयों पर लगाया लापरवाही का आरोप

Previous article

संदिग्ध परिस्थिति में हुई विवाहिता की मौत, परिजनों ने सुसराल वालों पर लगाया हत्या आरोप

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured