पीएम ने किया आईक्रिएट को लॉन्च, कहा- आईक्रिएट से होंगे सपने पूरे

अहमदाबाद। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ अहमदाबाद पहुंचे पीएम मोदी 14 किलोमीटर का लंबा रोड़ शो करने के बाद साबरमती पहुंचे। इसके बाद पीएम  मोदी ने आईक्रिएट को लॉन्च किया। इस दौरान पीएम ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे खुशी है कि इजराइल के पीएम की मौजूदगी में इस संस्थान की शुरुआत हो रही है। नेतन्याहू की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि उन्होंने मेरे गुजरात आने का निमंत्रण स्वीकार किया और परिवार के साथ यहां पहुंचे। इस दौरान हम दोनों ने साबरमती आश्रम के दर्शन किए और पतंग भी उड़ाई।

पीएम मोदी ने कहा कि आज से करीब 50-60 साल पहले अहमदाबाद के उद्योगपतियों के प्रयासों से एक फॉर्मेसी कॉलेज की शुरुआत हुई थी। उस फॉर्मेसी कॉलेज ने अहमदाबाद और पूरे गुजरात में फॉर्मेसी के क्षेत्र में एक मजबूत इको सिस्टम की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि जब कुछ वर्ष पहले मैंने आईक्रिएट  को लॉन्च किया था, तो उस समय भी कहा था कि मैं इजरायल को आईक्रिएट से जोड़ना चाहता हूं। मेरा मकसद यही था कि इजरायल के अनुभव का फायदा, उसके start up environment का लाभ, इस संस्था को, देश के नौजवानों को मिले।

मोदी ने इस दौरान आईक्रिएट में i छोटा क्यों है इसका कारण बताते हुए कहा कि I का बड़ा होना क्रिएटविटी में रुकावट हो सकती थी, इसलिए आईक्रिएट का i छोटा किया गया है। अगर बड़ा I होता तो मतलब होता कि अहम और अहंकार आड़े आता है इसलिए इसकी शुरुआत छोटे आई से करके बड़ा सपना देखा गया है। पीएम ने इस दौरान समुद्री पानी को पीने योग्य बनाने वाली जीप की भी तारीफ की।

उन्होंने कहा कि गुजरात के बॉर्डर में उसके कारण भारतीय जवानों की प्यास बुझेगी जिसके लिए मैं इजरायली पीएम का शुक्रिया अदा करता हूं।  पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश भविष्य को बेहतर बनाने के लिए कृत संकल्प हैं। आईक्रिएट से होंगे युवाओं के सपने पूरे हो रहे हैं  क्योंकि आई्क्रिएट का संबंध इजराइल से है। पीएम ने अंत में कहा कि गुजरात में यहुदि समाज के लोग बड़े की आराम दायक जिंदगी गुजार रहे हैं और गुजरात के यहुदियों ने देश के कई राज्यों में अपनी पहचान बनाई है।