featured यूपी

Lucknow: फार्मेसिस्ट महासंघ ने मुख्य सचिव से की अपील, कोरोना से लड़ाई में मिलेगी ये मदद!

कोरोना के लिए हाथ बंटाने आगे आया फार्मेसिस्ट महासंघ, मुख्य सचिव से की ये अपील

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में कोरोना के कहर दो देखते हुए फार्मासिस्ट महासंघ सामने आया है। इसके लिए फार्मासिस्ट महासंघ ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से यूपी फार्मासिस्ट महासंघ ने कोविड काल में जनता को त्वरित और गुणवत्ता युक्त चिकित्सा सुविधा मिले इसके लिए फार्मासिस्टों की खुली भर्ती किए जाने की अपील की है।

फार्मासिस्टों की हो खुली भर्ती 

राजकीय फार्मासिस्ट महासंघ अध्यक्ष सुनील यादव ने पत्र के माध्यम से कहा है कि इस समय कोविड के कारण जनता बड़ी मुसीबत में है।

कोरोना के लिए हाथ बंटाने आगे आया फार्मेसिस्ट महासंघ, मुख्य सचिव से की ये अपील

कोविड से बचने के लिए जांच, खोज और उपचार तीनों अत्यंत ही महत्वपूर्ण हैं। इस संबंध में मुख्य सचिव द्वारा काफी मेहनत की जा रही है। लेकिन कोरोना से बचने के लिए फार्मेसिस्ट महासंघ कुछ सुझाव देना चाहता है जो निम्नवत् हैं।

  • प्रदेश के उन जनपदों में जहां पर मरीजों की संख्या अत्यंत अधिक हो गई है वहां बड़े कैंप लगाकर पूरे जनपद के चारों तरफ जगह-जगह टेस्टिंग की व्यवस्था की जाए।
  • यथासंभव आर आर टी (रैपिड रिस्पांस टीम) को और बढ़ा कर संक्रमित मरीजों एवं उनके परिजनों को आवश्यक औषधियां उपलब्ध कराने के साथ ही उनसे निरंतर दूरभाष पर संपर्क भी बनाए रखा जाए, जिससे किसी भी अनहोनी से बचा जा सके।
  • विशेषज्ञों की राय प्राप्त कर जांच की एक और विधि Reverse transcription loop-mediated isothermal amplification (RT-LAMP) जो गुणवत्ता युक्त  एवं जल्दी परिणाम देने वाली हो सकती है, उसे प्रयोग में लाया जाए जा सकता है।
  • उपरोक्त सभी कार्यों के लिए बड़े पैमाने पर मानव संसाधन की आवश्यकता होगी आप स्वयं अवगत है कि प्रदेश में लगभग 110000 प्रशिक्षित और योग्य फार्मेसिस्ट (डिप्लोमा, बैचलर, मास्टर, डॉक्टर, पीएचडी) पंजीकृत है जिन्हें खुली भर्ती के द्वारा योजित कर उनकी सेवाएं टेस्टिंग ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट तीनों में ली जा सकती हैं।
  • फार्मेसिस्ट को माइक्रोबायोलॉजी के साथ फार्मोकोलॉजी एवं अनेक विषयों का विस्तृत अध्ययन कराया जाता है । प्रदेश के विभिन्न चिकित्सालयों में जहां पर चिकित्सक उपलब्ध नहीं है वहां प्राथमिक उपचार फार्मेसिस्टों द्वारा दिया जा रहा है, फार्मेसिस्ट बड़े चिकित्सालयों में भी आकस्मिक चिकित्सा व्यवस्था में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।
  • एक बड़ी संख्या में प्रशिक्षित फार्मेसिस्टों को सेवायोजित कर उनसे सेवा लिया जाना मानव जीवन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होगा और इसके साथ ही खुली भर्ती द्वारा नर्सेज, लैब टेक्नीशियन आदि को भी योजित किया जा सकता है।
फार्मसिस्टों की भर्ती से मिलेगा ‘मैन पावर’

इसके साथ ही पत्र में फार्मसिस्ट महासंघ अध्यक्ष सुनील यादव ने लिखा कि वर्तमान महामारी के समय पीड़ित जनता को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं देकर प्रदेश में जनता को इस महामारी से बचाया जा सकता है और उससे होने वाले नुकसान से भी जनता बच सकती है।

ऐसे में मुख्य सचिव से ये मांग की गई है कि फार्मसिस्टों की उक्त मांगों पर गौर करने की कृपा करें। इससे प्रदेश की जनता को बड़ा लाभ मिलेगा और सरकार के पास भी कोरोना से लड़ने के लिए एक बड़ी मैन पावर होगी।

Related posts

भारत में 59 एप्स बेन होने के बाद टूटी चीन की कमर, कहा- भारत एक बार और सोच ले

Rani Naqvi

गालीबाज भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी मेरठ से गिरफ्तार

Nitin Gupta

रोहतक निवासी सोनिया की आत्महत्या मामले में नया मोड़, पुलिस ने जताई हत्या की आशंका

Aman Sharma