December 10, 2022 8:13 am
featured यूपी

लखनऊः DGP मुकुल गोयल की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में दायर हुई हाईकोर्ट में याचिका

लखनऊः DGP मुकुल गोयल की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में दायर हुई हाईकोर्ट में याचिका

लखनऊः उत्तर प्रदेश पुलिस के मुखिया डीजीपी मुकुल गोयल के पास क्राइम खत्म करने की चुनौती पहले से ही थी, इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट में उनके खिलाफ दायर हुई एक याचिका ने उनकी मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ा दी है।

दरअसल, हाईकोर्ट में अविनाश प्रकाश पाठक ने जनहित याचिका दाखिल करते हुए डीजीपी पर भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि साल 2005 में हुई पुलिसभर्ती के दौरान डीजीपी मुकुल गोयल पर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार करने के आरोप थे। वहीं, साल 2007 में तत्कालीन सरकार के निर्देश पर मामले की जांच उस वक़्त यूपी के डीजीपी रहे विक्रम सिंह ने भ्रष्टाचार निवारण संस्थान को सौंपी थी। लेकिन अभी तक उस जांच पर न ही कोई कार्रवाई हुई और न ही किसी प्रकार की रिपोर्ट पेश की गई।

PMO तक पहुंचा था मामला

याचिका में बताया गया है कि इस पूरे मसले को लेकर 10 साल तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई। साल 2017 में इस बाबत प्रधानमंत्री कार्यालय में शिकायत भी की गई थी। जिसपर संज्ञान लेते हुए साल 2018 में केंद्रीय गृह मंत्रालय के आईपीएस सेक्शन सचिव मुकेश साहनी की ओर से यूपी के तत्कालीन प्रमुख सचिव गृह को पत्र लिखा गया। इस पत्र में भ्रष्टाचार की जांच करने के लिए निर्देशित किया गया था।

सचिव मुकेश साहनी की तरफ से भेजे गए पत्र में यह भी कहा गया था कि जांच के बाद मामले पर हुई कार्रवाई से शिकायतकर्ता अविनाश पाठक और गृह मंत्रालय को अवगत कराया जाए।

अविनाश ने अपनी याचिका में कहा है कि उस वक़्त से अभी तक प्रमुख सचिव गृह की ओर से मामले पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं, हाल ही में मुकुल गोयल को यूपी का डीजीपी बना दिया गया जो कि पूरी तरह अवैधानिक है। याची अविनाश ने डीजीपी मुकुल गोयल को पद से हटाने की मांग की है।

Related posts

कौशल विकास मंत्रालय का काम रोजगार देना नहीं हुनरमंद बनाना है- रूड़ी

piyush shukla

प्लेबैक सिंगर कैलाश खेर ने कभी की थी जान देने की कोशिश, ऐसा रहा निजी जीवन

mohini kushwaha

प्रेगनेंसी में जरूर खाए आम होगे ये फायदे

mohini kushwaha