Screenshot 49 अवैध बजरी कारोबार के खिलाफ लोगों ने किया प्रदर्शन, पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

धौलपुर शहर के कोतवाली थाना इलाके के एनएच 11b पर बजरी माफिया द्वारा ट्रैक्टर ट्रॉली से बाइक सवार महिला पुरुष को टक्कर मारने के बाद मृतक के परिवारजनों ने हाउसिंग बोर्ड तिराहा पर जाम लगा दिया. आक्रोशित लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाकर जमकर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान एएसपी वचन सिंह मीणा मौके पर पहुंचे. एएसपी को मौके पर स्थानीय लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा. एनएच-11बी पर जाम लगने से वाहनों की दोनों तरफ लंबी-लंबी कतारें लग गई. जिससे आवागमन में लोगों को काफी परेशानी भी हुई. जाम की खबर सुनकर मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाबुझा कर मामले को शांत करवाया. बजरी माफिया के कारोबार को बढ़ावा दे रहे ट्रैक्टर-ट्रॉली से बीते दिन एक बाइक की टक्कर हो गई थी और दुर्घटना में बाइक सवार महिला और पुरुष की मौत हो गई.

हाउसिंग बोर्ड पुलिस चौकी के पास बजरी माफिया के ट्रैक्टर ट्रॉली से महिला पुरुष को कुचलने के बाद स्थानीय लोगों में प्रदर्शन किया. दुर्घटना स्थल से पुलिस दोनों के शव को लेकर जिला अस्पताल पहुंच गई. इससे पहले पुलिस आगे की कार्रवाई को अंजाम देती उससे पहले ही स्थानीय लोगों ने हाउसिंग बोर्ड चौराहे पर अवरोधक लगाकर और आग जलाकर हाईवे को जाम कर दिया.

लोगों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप
हाईवे पर जाम लगने से वाहनों की दोनों तरफ लंबी-लंबी कतारें लग गई. लोगों ने आरोप लगाते हुए कहा कि शहर में बजरी माफिया बेलगाम हो रहे हैं. तेज रफ्तार में चलते हुए बजरी माफिया शहर के गली मोहल्लों में लोगों को हादसे का शिकार बना रहे हैं. लेकिन पुलिस प्रशासन हालातों से रूबरू होते हुए भी कार्रवाई नहीं कर रहा है. बजरी माफियाओं के हौसले दिनों-दिन बुलंद होते जा रहे हैं.

पुलिस की कार्रवाई पर सवालिया निशान
इस हादसे के बाद पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगने शुरू हो गए हैं. फर्राटे से दौड़ते हुए बजरी माफिया शहर के राष्ट्रीय राजमार्ग सहित छोटे-छोटे लिंक सड़क मार्गों पर भी फर्राटे से दौड़ लगा रहे हैं. लेकिन जिला प्रशासन और पुलिस मूकदर्शक बनी बैठी है. रविवार देर शाम बाड़ी की तरफ से तेज रफ्तार में आ रहे बजरी माफिया ने ट्रैक्टर ट्रॉली से बाइक सवार एक महिला पुरुष को रौंद दिया. जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.

राजस्थान के धोलपुर से इरफान अहमद की रिपोर्ट

किसान आंदोलन: बातचीत से पहले राकेश टिकैत ने रखीं ये तीन मांगें

Previous article

शरबती देवी दिव्यांग सशक्तिकरण केन्द्र पर मनाई गई लुई ब्रेल की जयन्ती

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured